Monday, October 3, 2022

Ankita Murder Case : भाजपा नेता के बेटे पर फूटा लोगों का गुस्सा, बीच सड़क पर पीटा

देहरादून. उत्तराखंड का अंकिता हत्याकांड में पुलिस ने पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य और उसके दोस्त सौरभ और भास्कर को गिरफ्तार कर लिया है. अब तक पुलिस को अंकिता का शव नहीं मिल पाया है. बीते दिनों अंकिता की गुमशुदगी को लेकर सोशल मीडिया पर अभियान छिड़ा हुआ था. वहीं, अब इस मामले में राज्य की महिलाओं का गुस्सा फुट पड़ा है. इन्होने आरोपियों को बीच सड़क पर खूब पीटा है.
दरअसल, आज पुलिस आरोपियों को पेशी के लिए कोटद्वार लेकर जा रही थी, इसी दौरान सड़क पर सैकड़ों ग्रामीण एकत्रित हो गए और इन्होने पुलिस की गाड़ी पर हमला कर दिया. पुलिस जब लोगों को शांत करवाने के लिए गाड़ी से उतरी तो लोगों ने आरोपियों को पीटना शुरू कर दिया. इस मामले में बहुत ज्यादा आक्रोश है.

पांच दिनों से लापता रिज़ॉर्ट रिसेप्शनिस्ट अंकिता का पता चल गया है, लेकिन अफ़सोस अब अंकिता हमारे बीच नहीं है. युवती की निर्मम हत्या कर दी गई है. पौड़ी गढ़वाल की नंदालस्यूं पट्टी के श्रीकोट गांव की अंकिता भंडारी पिछले पांच दिनों से लापता थी, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्या के बेटे पुलकित आर्या समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया है.

आरोपियों ने कबूला जुर्म

गिरफ्तार किए गए तीनों आरोपियों से पुलिस ने जब कड़ाई से पूछताछ की तो उन्होंने अपना जुर्म कबूल कर लिया. इस मामले में पूर्व राज्य मंत्री विनोद आर्य के बेटे, अंकित उर्फ पुलकित आर्य (19) , सौरभ भाष्कर, और पुलकित गुप्ता को गिरफ्तार किया है.

ऐसी की हत्या

आरोपियों ने इस संबंध में बताया है कि 18 सितंबर की शाम पुलकित व अंकिता रिजार्ट में थे तब उनमें किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया. पुलकित ने दोस्तों से कहा कि अंकिता गुस्से में है, इसे लेकर ऋषिकेश चलते हैं. इसके बाद वो तीनों अलग-अलग गाड़ियों से ऋषिकेश चले गए, तीनों बैराज होते हुए एम्स के पास पहुंचे. इस दौरान रास्ते में उन तीनों ने खूब शराब पी.

इसलिए की हत्या

आरोपियों ने बताया कि अंकिता व पुलकित के बीच थोड़ी ही देर में फिर से झगड़ा होने लगा, उनका कहना है कि अंकिता उन्हें अपने साथियों के बीच बदनाम करती थी और उनकी बातें दूसरों को बताती थी. इस विवाद के दौरान उन्हें गुस्सा आ गया और अंकिता भी उनकी हाथापाई हो गई, ऐसे में उन्होंने गुस्से में उसे धक्का दे दिया और वो नहर में गिर गई, उसने मदद के लिए बहुत चीख-पुकार की लेकिन इनमें से किसी ने भी उसे बचाना मुनासिब नहीं समझा. फ़िलहाल, पुलिस अंकिता के शव की तलाश कर रही है.

 

विदेश मंत्री जयशंकर को पीएम मोदी ने आधी रात में किया फोन, पूछा- जाग रहे हो? जानिए पूरा किस्सा

अखिलेश यादव ने की राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मुलाकात, आजम खान को लेकर की बातचीत

Latest news