Wednesday, February 1, 2023
spot_img

Ankita Bhandari Murder: आक्रोश और आंसू के बीच सात दिन बाद विदा हुई अंकिता

देहरादून. अंकिता हत्याकांड में रोज़ नए-नए खुलासे हो रहे हैं. अंकिता का परिवार अंतिम संस्कार के लिए मान गया है. इस अमले में पूर्व भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य को गिरफ्तार कर लिया गया है. अंकिता भंडारी हत्याकांड में भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित आर्य के रिजॉर्ट अनंतरा पर शुक्रवार को बुलडोज़र चल गया. इस पर भी कई सवाल उठे. पहले तो परिवार अंकिता का अंतिम संस्कार करने के लिए राज़ी नहीं था, लेकिन फिर बाद में परिवार अंतिम संस्कार के लिए माना.

फाइनल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने और मामले की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई के आश्वासन के बाद आखिरकार सात दिन बाद अंकिता भंडारी का अंतिम संस्कार किया. अंकिता के पिता और भाई का कहना था कि फाइनल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही अंतिम संस्कार किया जाएगा, परिवार की मांग पर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उन्हें आश्वासन दिया कि इस मामले में फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई होगी.

दिल्ली तक हो रहा विरोध

अंकिता की हत्या पर उत्तराखंड से लेकर दिल्ली तक लोग जमकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. उत्तराखंड में प्रदर्शनकारियों ने रविवार को ऋषिकेश-बद्रीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग को कई घंटों तक जाम रखा और अंकिता के लिए इन्साफ की मांग की. लोगों की मांग है कि दोषियों को फांसी की सज़ा सुनाई जाए.
गौरतलब है, अंकिता के भाई ने रिज़ॉर्ट पर हुई बुल्डोज़र कार्रवाई पर सवाल उठाए थे और कहा था कि प्रशासन को बुलडोज़र चलाने की इतनी क्या जल्दी थी, बुलडोज़र चलाकर सबूत मिटाने की कोशिश की गई है.

प्रियंका गाँधी ने कह दी ये बात

इस मामले में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने ट्वीट कर कहा कि उत्तराखंड की अंकिता के साथ दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है, लेकिन इतनी बड़ी घटना के बाद भी प्रशासन की कार्रवाई सिर्फ दिखावट तक सीमित है, उन्होंने आगे लिखा- जरा सोचिए कि अंकिता के मां-बाप पर क्या गुजर रही होगी? उनका क्या हाल होगा, वहीं पुलिस इस मामले में सिर्फ खानापूर्ति कर रही है.

Latest news