नई दिल्ली: अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के शताब्दी समारोह के खास अवसर पर आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने AMU के वर्चुअल कार्यक्रम को सबोंधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संबोधन में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के इतिहास से लेकर कोरोना काल तक के सफर की बात कही. बता दें कि, बीते कुछ पांच दशक के बाद यह पहला मौका है, जब देश के प्रधानमंत्री एएमयू के किसी कार्यक्रम में शामिल हुए हैं. आइए आपको बताते हैं पीएम मोदी ने अपने इस सबोंधन में क्या कुछ कहा.

पीएम नरेंद्र मोदी के सबोंधन की 10 बड़ी बातें

1. अपने सबोंधन में पीएम मोदी ने कहा, अभी कोरोना के इस संकट के दौरान AMU ने जिस तरह समाज की मदद की, वो अभूतपूर्व है. साथ ही हजारों लोगों का मुफ्त टेस्ट करवाना, आइसोलेशन वार्ड बनाना, प्लाज्मा बैंक बनाना और पीएम केयर फंड में बड़ी राशि का योगदान देना, समाज के प्रति आपके दायित्वों को पूरा करने की गंभीरता को दिखाता है.

2. उन्होंने कहा कि AMU की दीवारों में देश का इतिहास है, यहां से पढ़ने वाले छात्र दुनिया में देश का नाम रोशन कर रहे हैं. यहां से निकले छात्रों से कई बार विदेश में उनकी मुलाकात हुई, जो हमेशा हंसी-मजाक और शेर-ओ-शायरी के अंदाज में खोए रहते हैं.

3. पीएम मोदी ने कहा, बीते 100 वर्षों में AMU ने दुनिया के कई देशों से भारत के संबंधों को सशक्त करने का भी काम किया है. उर्दू, अरबी और फारसी भाषा पर यहाँ जो रिसर्च होती है, इस्लामिक साहित्य पर जो रिसर्च होती है, वो समूचे इस्लामिक वर्ल्ड के साथ भारत के सांस्कृतिक रिश्तों को नई ऊर्जा देती है

4. पीएम ने कहा, आज एएमयू से तालीम लेकर निकले सारे लोग भारत के सर्वश्रेष्ठ स्थानों पर ही नहीं बल्कि दुनिया के सैकड़ों देशों में छाए हुए हैं. एएमयू के पढ़े लोग दुनिया में कहीं भी हों, लेकिन भारत की संस्कृति का प्रतिनिधित्व जरूर करते हैं.

5. प्राधनमंत्री ने कह, आज देश जो भी योजनाएँ बना रहा है वो बिना किसी मत मजहब के भेद के हर वर्ग तक पहुँच रही हैं. उन्होने बतायाय, बिना किसी भेदभाव, 40 करोड़ से ज्यादा गरीबों के बैंक खाते खुले. बिना किसी भेदभाव, 2 करोड़ से ज्यादा गरीबों को पक्के घर दिए गए, बिना किसी भेदभाव 8 करोड़ से ज्यादा महिलाओं को गैस मिला.

6. उन्होंने बताया कि सरकार हायर एजुकेशन में नंबर ऑफ एनरोलमेंट बढ़ाने और सीटें बढ़ाने के लिए भी लगातार काम कर रही है. जो, वर्ष 2014 में हमारे देश में 16 आईआईटीएस थीं. आज वो 23 हैं.

7. पीएम मोदी ने कहा, हमने मैडिकल एजुकेशन को लेकर भी बहुत काम किया है. उन्होंने बताया कि 6 साल पहले तक देश में सिर्फ 7 एम्स थे. आज देश में 22 एम्स हैं. साथ ही उन्होंने कहा, शिक्षा चाहे ऑनलाइन हो या फिर ऑफलाइन वो सभी तक पहुंचे, बराबरी से पहुंचे, सभी का जीवन बदले, हम इसी लक्ष्य के साथ काम कर रहे हैं.

8. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने सबोंधन में कहा कि कुछ वक्त पहले AMU के एक पूर्व छात्र ने उनसे बात करते हुए बताया. कभी मुस्लिम बेटियों का स्कूल से ड्रॉप आउट रेट 70 फीसदी से अधिक था, कई दशकों से ऐसी ही स्थिति थी. लेकिन स्वच्छ भारत मिशन के बाद अब ये घटकर 30 फीसदी तक रह गया है. इसके साथ ही पीएम मोदी बोले कि AMU में भी अब 35 फीसदी तक मुस्लिम बेटियां पढ़ रही हैं.

9. पीएम मोदी ने अपने संबोधन में सर सैयद को याद किया और कहा, सर सैयद का संदेश कहता है कि हर किसी की सेवा करें, चाहे उसका धर्म या जाति कुछ भी हो. ऐसे ही देश की हर समृद्धि के लिए उसका हर स्तर पर विकास होना जरूरी है, आज हर नागरिक को बिना किसी भेदभाव के विकास का लाभ मिल रहा है.

10. आखिर में पीएम बोले कि नागरिक संविधान से मिले अधिकारों को लेकर निश्चिंत रहे, सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास ही हमारा सबसे बड़ा मंत्र है.

Farmer Protest : सरकार कृषि कानूनों को निरस्त नहीं करेगी : नरेंद्र सिंह तोमर

PM Narendra Modi In Varanasi: देव दीपावली पर काशी में PM नरेंद्र मोदी ने भरी हुंकार- पंजाब के किसानों को याद दिलाई गुरु नानक की सीख

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर