अमृतसर. पंजाब के अमृतसर में ट्रेन की चपेट में आकर 60 लोगों की मौत हो गई. जोड़ा फाटक के पास जिस समय तेज रफ्तार ट्रेन से यह हादसा हुआ उससे सिर्फ 2 मिनट पहले ही एक अन्य ट्रेन यहां से गुजरी थी. यह ट्रेन बहुत धीमी गति से यहां ने निकली थी जिससे लोगों को बचने में कोई परेशानी नहीं हुई और सभी सुरक्षित बच गए. लेकिन इसके अपोजिट साइड से आई तेज रफ्तार ट्रेन ने लोगों को संभलने का मौका नहीं दिया और सैकड़ों को रौंदती हुई चली गई. इस ट्रेन हादसे में 61 लोगों की मौत हो गई है जबकि 70 से ज्यादा घायल हैं.

धीमी रफ्तार से गुजरी ट्रेन अमृतसर रेलवे स्टेशन से धीमी रफ्तार से चली थी. यह ट्रेन बहुत धीमी रफ्तार से दो किमी चलकर घटनास्थल पर पहुंची थी जो वेस्ट बंगाल के हावड़ा स्टेशन की तरफ जा रही थी. दूसरी ट्रेन, जो बहुत तेज रफ्तार से आ रही थी वह जालंधर से अपने लास्ट गंतव्य अमृतसर पहुंचने वाली थी. इसके गंतव्य स्थल से पहले ही सैकड़ों की तादाद में लोग ट्रैक पर खड़े होकर रावण दहन देख रहे थे. ट्रेन की रफ्तार इतनी तेज थी कि लोगों को संभलने का मौका भी नहीं मिल पाया और सैकड़ों कट गए.

यहां मौजूद सैकड़ों लोग अपने मोबाइल से रावण दहन का वीडियो बनाने में व्यस्त थे. इस बीच धीमी रफ्तार वाली ट्रेन आई तो लोग दूसरे ट्रैक की तरफ खड़े हो गए. इसके आधा मिनट के अंदर ही दूसरे ट्रैक पर तेज रफ्तार वाली ट्रेन आ गई. इस ट्रेन के ड्राइवर द्वारा हॉर्न दिए जाने पर भी संदेह है. कहा जा रहा है कि ड्राइवर ने हॉर्न तो बजाया लेकिन रावण दहन के पटाखों की आवाज में लोग सुन नहीं पाए. घटनास्थल का जायजा लेने के बाद रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्वनी लोहानी ने मामले की जांच कराने से इंकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि यह अतिक्रमण का मामला है.

Amritsar train accident: ट्रेन रोकने के लिए 650 मीटर चाहिए, इमरजेंसी ब्रेक से पलट जाती ट्रेन, स्पीड कम पर नहीं बची जान

Amritsar Train Accident: ट्रेन ड्राइवर ने जान बचाने की पूरी कोशिश की, स्पीड 91 से 68 तक ही कर सका कि हादसा हो गया

Amritsar Train accident: ग्राफ़िक के जरिए देखिए, अमृतसर के जोड़ा फाटक में बड़ा ट्रेन हादसा कैसे हुआ

Amritsar Train accident: ग्राफ़िक के जरिए देखिए, अमृतसर के जोड़ा फाटक में बड़ा ट्रेन हादसा कैसे हुआ

Posted by InKhabar on Saturday, 20 October 2018

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App