अमेठी. उत्तर प्रदेश के अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को हराने वाली बीजेपी सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबी ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या राजनीतिक रंजिश की वजह से की गई है. यूपी पुलिस डीजीपी ने मामले की शुरुआती जांच के आधार पर इस बात की पुष्टि की है. पुलिस ने वारदात में प्रयुक्त हथियार (देसी तमंचा) को बरामद कर लिया है.साथ ही शक के आधार पर 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया जबकि अन्य 2 आरोपी फरार हैं जिनकी तलाश पुलिस कर रही है. 

अमेठी के बरौलिया ग्राम के पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या शनिवार शाम कुछ अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर की थी. सुरेंद्र सिंह पूर्व केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के काफी करीबी माने जाते थे. लोकसभा चुनाव 2019 में अमेठी में प्रचार के दौरान भी सुरेंद्र सिंह स्मृति ईरानी के साथ रहे थे. मौत की खबर सुनकर अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी ने सुरेंद्र सिंह की अर्थी को कंधा दिया, साथ ही उनके परिवार से मिलकर हिम्मत दी.

रविवार को सुरेंद्र सिंह की अंतिम यात्रा में शामिल होने के बाद घटना से आहत स्मृति ईरानी ने कहा था कि अब सुरेंद्र सिंह के परिवार की जिम्मेदारी उनकी है. साथ ही स्मृति ईरानी ने सुरेंद्र सिंह के परिवार के सामने शपथ ली की इस मामले के आरोपियों को फांसी होकर रहेगी, चाहे सुप्रीम कोर्ट ही क्यों न जाना पड़े.

वहीं मृतक पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह के बेटे ने पिता की हत्या के पीछे कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर शक जताया है. सुरेंद्र सिंह के बेटे ने आशंका जाहिर करते हुए कहा है कि नरेंद्र मोदी सरकार में मंत्री रहीं स्मति ईरानी के अमेठी से सांसद चुने जाने की खुशी में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने इलाके में विजय यात्रा निकाली जो शायद कांग्रेस कार्यकर्ताओं को पसंद नहीं आया, इसी वजह से उनके पिता की हत्या कर दी.

Smriti Irani Amethi BJP Leader Murder Funeral Procession: अमेठी में करीबी सुरेंद्र सिंह की हत्या से आहत स्मृति ईरानी बोलीं- हत्यारों को होगी फांसी, चाहे सुप्रीम कोर्ट क्यों ना जाना पड़े

Smriti Irani Amethi BJP Leader Murder Funeral Procession: अमेठी से बीजेपी सांसद स्मृति ईरानी के करीबी पूर्व प्रधान सुरेंद्र सिंह की हत्या, पूर्व केंद्रीय मंत्री ने अंतिम यात्रा में शामिल होकर अर्थी को दिया कंधा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App