रायपुर. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए कई राज्यों में लॉकडाउन लगा दिया गया है। ऐसे में सिर्फ जरूरत की चीजें ही लोगों तक पहुंच पा रही हैं। तमाम और दुकानों के साथ-साथ शराब की दुकानें भी बन्द हैं। लेकिन अब छत्तीसगढ़ सरकार शराब की होम डिलिवरी करेगी। 10 मई से इसकी शुरुआत होगी।

शराब की होम डिलिवरी के लिए आबकारी विभाग ने आदेश भी जारी किया है। शराब की होम डिलिवरी सुबह 9:00 बजे से रात 8:00 बजे तक की जाएगी। इसके लिए बाकायदा एक ऐप भी बनाया गया है। इस ऐप पर जाकर शराब की बुकिंग की जा सकेगी। इसके लिए ग्राहकों को अपना मोबाइल नंबर, आधार कार्ड, पूरा पता ऐप पर रजिस्टर करना होगा।  ऑनलाइन शराब ऑर्डर करने के दौरान शराब का नाम और उसका रेट ऐप पर दिखेगा। इस सेवा के तहत शराब की दुकान से 15 किलोमीटर की रेंज के भीतर शराब मंगाई जा सकेगी। शराब लेने के लिए पैसे का पेमेंट पहले ही करना होगा।

घर तक शराब पहुंचाने में सरकार का तर्क

सरकार की तरफ से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि प्रदेश में लॉकडाउन अवधि में आगामी आदेश तक, अवैध मदिरा निर्माण, विक्रय और परिवहन पर अंकुश लगाने के लिए प्रदेश में मदिरा की ऑनलाइन होम डिलीवरी की व्यवस्था 10 मई 2021 से शुरू की जा रही है। यानी सरकार का कहना है कि लॉकडाउन की वजह से अवैध शराब बिक्री पर रोक लगेगी। क्योंकि बीते दिनों छत्तीसगढ़ में अवैध शराब पीने की वजह से कई लोगों की मौत हो गई थी।

सरकार को दवाई की नहीं शराब की चिंता

वहीं पूर्व मुख्‍यमंत्री रमन सिंह (Raman singh) ने इस फैसले पर सरकार को घेरा है। उन्होंने छत्‍तीसगढ़ सरकार पर निशाना साधते हुए ट्वीट कर कहा है कि ‘कोरोना संकट में यह देश की पहली सरकार है जो शराब की होम डिलीवरी करेगी। आपके घर राशन, दवाई और वैक्सीन पहुंचे या नहीं लेकिन यह शराब जरूर पहुंचाएंगे। सोचिए! अस्पतालों में मरीज दम तोड़ रहे हैं लेकिन इस सरकार को बस शराबियों की चिंता है।’

Thailand call girl died at lucknow : बढ़ते कोरोना मामले के बीच लखनऊ के एक रईसजादे ने थाईलैंड से बुलाई कॉलगर्ल, कोरोना से मौत के बाद हुआ खुलासा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर