देहरादून: उत्तराखंड के सहसपुर में गुरुवार को मोबाइल फोन पर पोर्न फिल्म देखने के दो दिन बाद 9 से 14 साल के पांच लड़कों ने कथित रूप से एक आठ वर्षीय लड़की के साथ गैंगरेप किया. पुलिस ने सभी पांच आरोपियों को हिरासत में लेकर बाल सुधार घर भेज दिया गया है. पीड़िता के माता-पिता ने पांच लड़कों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. पुलिस द्वारा हिरासत में पूछताछ करने पर आरोपियों ने अपराध स्वीकार करते हुए कहा कि उन्होंने फिल्म देखने के दो दिन बाद लड़की के साथ रेप करने की योजना बनाई थी.

पीड़िता के पेरेंट्स द्वारा दर्ज कराई शिकायत में कहा है कि एक आरोपी लड़की को चॉकलेट देने का लालच देकर घर के अंदर बुला ले गया. वहां चार आरोपी पहले से ही मौजूद थे. पुलिस अधिकारी के मुताबिक, सभी लड़के मजदूरों के बच्चे हैं और कक्षा 6 से 9वीं तक के छात्र हैं. सभी आरोपी उसी बस्ती में रहते हैं जहां बच्ची का परिवार रहता है. लड़की कक्षा पांच की छात्रा है और चार भाई बहनों व माता-पिता के साथ रहती है.

घटना से पहले लड़की अपने घर के बाहर खेल रही थी. उसके माता पिता काम से बाहर गए हुए थे. तभी 10 वर्षीय आरोपी बच्ची के पास आया और उसे चॉकलेट देने का लालच देकर एक घर में ले गया. सहसपुर पुलिस स्टेशन इंचार्ज ने मीडिया को बताया कि आरोपियों ने दो दिन पहले बच्ची को ऐसे समय में टारगेट करने की योजना बनाई थी जब उसके पेरेंट्स घर से बाहर हों. वे दो दिन से सही समय का इंतजार कर रहे थे. बच्ची को घर के अंदर ले जाकर वहां छिपे बैठे चार अन्य आरोपियों ने बच्ची को पकड़ लिया. इस दौरान बच्ची को चारों ने पकड़कर हवस का शिकार बनाया जबकि एक आरोपी घर के बाहर खड़ा रहकर निगरानी करने लगा.

इससे पहले ऐसा ही एक मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर में सामने आया था. कानपुर में 6 से 10 साल तक की उम्र के चार बच्चों ने पोर्न देखने के बाद चार साल की बच्ची को हवस का शिकार बनाया था. इस मामले में आरोपियों के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया था. 

22 हैवानों ने 7 महीने तक 12 साल की बच्ची को बनाया हवस का शिकार, आरोपियों में 60, 55, 54 और 58 साल के लोग भी

उत्तर प्रदेशः संभल में दो बच्चों की मां से दरिंदगी, गैंगरेप के बाद मंदिर परिसर में जिंदा जलाया

कानपुर: पोर्न देखने के बाद 4 बच्चों ने किया 4 साल की बच्ची से गैंगरेप, पॉक्सो एक्ट में मामला दर्ज