मेरठः राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (RSS) के प्रचारक रविंद्र गोसाईं की लुधियाना में हुई हत्या के आरोपी परवेज उर्फ फरू को एनआईए की टीम ने मेरठ से गिरफ्तार किया है. परवेज अवैध हथियार सप्लाई का काम करता है. पिछले दिनों एनआईए की टीम द्वारा मारे गए छापे में वह घर की छत से कूदकर भाग निकला था. मंगलवार को मेरठ में एनआईए और कैंट एएसपी की संयुक्त टीम के हत्थे चढ़ गया. मंगलवार देर रात तक एनआईए के अधिकारी परवेज से पूछताछ करते रहे. अब NIA की टीम बुधवार को रविंद्र गोसाईं की हत्या के मामले में आरोपी को चंडीगढ़ कोर्ट में पेश करेगी. जिसके बाद उसको जेल भेज दिया जाएगा. जेल जाने के बाद एनआईए भी उसे ट्रांजिट रिमांड पर लेगी.

संघ प्रचारक की हत्या के आरोपी परवेज मेरठ के कोतवाली थाना क्षेत्र के सराय बहलीम का निवासी है जिसपर पर हथियारों की तस्करी करने के कई मामले दर्ज हैं. एनआईए की टीम ने दिसंबर 2017 में परवेज को पकड़ने के लिए छापा मारा था लेकिन रात में अंधेरे का फायदा उठाकर परवेज मकान की छत कूदकर भाग निकला था. उसके बाद से ही फरू एनआईए और मेरठ पुलिस के निशाने पर आ गया था. मंगलवार को मेरठ कैंट के एएसपी सतपाल सिंह की टीम ने परवेज को मेरठ के सदर इलाके से धर दबोचा जिसके बाद उनकी सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची एनआईए की टीम ने उससे देर रात तक गहन पूछताछ की.

बता दें, 17 अक्टूबर 2017 को RSS प्रचारक रविंद्र गोसाईं की पंजाब के लुधियाना में कुछ बदमाशों ने हत्या कर दी थी जिसमें कई हथियार की अवैध तस्करी करने वाले परवेज उर्फ फरू के साथ मलूक और पहाड़ सिंह का नाम सामने आया था जिसमें से पहाड़ सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है.

 

CPIM के पोस्टर पर नॉर्थ कोरिया तानाशाह किम जोंग, बीजेपी ने कहा- वामपंथी आरएसएस पर कहीं मिसाइल न छोड़ दे

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App