हैदराबादः सरकार भले ही गांवों को सड़कों के जरिए शहरों से जोड़ने के कितने ही दावे कर ले लेकिन आज भी कई ऐसे गांव है जहां सड़क ना होने के चलते लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. आंध्र प्रदेश के विजयनगरम जिले के एक गांव से एक ऐसा ही मामला सामने आया है यहां गांव में सड़क कनेक्टिविटी और एंबुलेंस ना होने के कारण एक गर्भवती महिला को डिलीवरी के लिए जंगल के रास्ते उसके रिश्तेदार लेकर गए. अस्पताल 7 किलोमीटर दूर था हालांकि वे लोग 4 किमी तक ही जा पाए क्योंकि रास्ते में ही महिला ने बच्चे को जन्म द् दिया. 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बच्चा और मां दोनों की स्वस्थ है. बता दें के ये इस तरह का पहला केस नहीं है 29 जुलाई को आंध्र प्रदेश के विजयनगरम में ही इसी तरह कंधे पर लाद कर प्रेग्नेंट महिला को अस्पताल ले जाया गया था लेकिन इस केस में नवजात की मौत हो गई थी. इसी तरह मामले पहले भी सामने आ चुके हैं जो तमाम दावे करने वाली सरकार की पोल खोल देती है. 

बता दें कि एक वीडियो सामने आया है जिसमें देखा जा सकता है कि कैसे एक गर्भवती महिला के रिश्तेदार डिलीवरी के लिए उसे कंधे पर एक डंडे में एक साड़ी बांधकर उसे अस्पताल ले जा रहे हैं क्योंकि वहां सड़क कनेक्टिविटी नहीं थी. जिस कारण वहां एंबुलेंस का पहुंचना लगभग नामुमकिन था. इससे पहले भी इस तरह की घटनाएं सामने आई हैं. हालांकि महिला औऱ बच्चा दोनों की सुरक्षित हैं. 

यह भी पढ़ें- रिश्वत के कारण नहीं मिली एंबुलेंस, मामा को साइकिल पर ले जाना पडा 7 महीने की भांजी का शव

झारखंड: हाथों में नवजात का शव उठाकर 8 किलोमीटर पैदल चला पिता, हॉस्पिटल ने नहीं दी एम्बुलेंस

 

 

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App