जयपुर. राजस्थान के संत कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य फलाहारी महाराज पर एक 21 साल की युवती ने दुष्कर्म का आरोप लगाया है. फलाहारी महाराज पर रेप का आरोप लगाने वाली युवती छत्तीसगढ़ के विलासपुर की है. युवती इस मामले में एफआईआर दर्ज करवा चुकी है. 
 
रेप के आरोपी बाबा फलाहारी महाराज की गिरफ्तारी के कायासा लगाए जा रहे थे, मगर उससे पहले एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है. फलाहारी महाराज के समर्थन में आए उनके एक शिष्य ने एक अनजान शख्स के खिलाफ ब्लैकमेल का केस दर्ज करवाया है. 
 
शिष्य के मुताबिक, अनजान व्यक्ति फलाहारी महाराज की छवि खराब करने की कोशिश कर रहा है. बता दें कि बाबा पर रेप का मामला दर्ज होने के बाद वो पुलिस की तैनाती के बीच राजस्थान के अलवर के एक अस्पताल में भर्ती हैं. 
 
फलाहारी महाराज के शिष्य सुदर्शनाचार्य ने रेप के मामले को झूठा करार दिया है. उनके मुताबिक, इस पूरे प्रकरण में बाबा की छवि खराब करने और उन्हें ब्लैकमेल करने के लिए ऐसी साजिश रची गई है. 
 
 
शिष्य सुदर्शनाचार्य के मुताबिक, वेद विद्यालय में पढ़ने वाले और तावडू के एक मंदिर में पूजा करने करने वाले धर्मेंद्र शर्मा के पास एक अज्ञात नंबर से कॉल आया था, जिसमें काल करने वाले ने धमकी भरे लहजे में कहा कि उसे 10 से 12 लाख रुपये की जरूरत है. अगर ऐसा नहीं होता है तो कॉल करने वाले ने कहा कि एक बाबा का तो इंतजाम कर दिया और अब दूसरे का भी इंतजाम कर दिया जाएगा.
 
धर्मेंद्र शर्मा की मानें तो अज्ञात कॉलर ने कहा कि अगर अगर उसकी बात नहीं मानी गई तो शिष्य सुदर्शनाचार्य महाराज को भी दुष्कर्म के मुकदमे में फंसा दिया जाएगा. उनके मुताबिक, इस मामले की शिकायत अरावली विहार थाने में कर दी गई है. साथ ही उन्होंने इसकी निष्पक्ष जांच की मांग की है. 
 
रेप का आरोप लगने के बाद भी बाबा फलाहारी को लेकर महिला भक्तों में काफी सम्मान है. महिला भक्तों का कहना है कि उनके बाबा ऐसा कुछ कर ही नहीं सकते. महिला भक्तों की मानें तो फलाहारी महाराज के आशीर्वाद मात्र से ही उनके सभी कष्ट दूर हो गए हैं. 
 
महिला भक्तों का ये तक मानना है कि उन लोगों ने कभी बाबा को ऐसी-वैसी हरकत करते नहीं देखा. महिला भक्तों का भी मानना है कि फलाहारी महाराज को साजिस के तहत फंसाने का काम किया जा रहा है.