पुणे. फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ पुणे (एफटीआईआई) में कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मिलने के दौरान छात्रों ने गजेंद्र चौहान को संस्थान का अध्यक्ष बनाने पर नाराजगी जताई.

छात्रों ने बताया कि वे योग्यतानुसार इस पद पर नियुक्ति को लेकर आवाज उठा रहे हैं लेकिन सरकार उनकी भावना को समझने के बजाय इसका राजनीतिकरण कर रही है. कभी उन्हें नक्सली बताया जा रहा है तो कभी हिंदू विरोधी.

इस पर राहुल गांधी ने कहा, ‘राजनीतिक दखल सिर्फ यहां नहीं हर जगह हो रहा है, आरएसएस की विचारधारा फैलाई जा रही है. सरकार की बात कोई नहीं टाल सकता. संसद में भी यही हाल है.’ उन्होंने कहा कि जबरन किसी को किसी पर थोपा नहीं जा सकता, जब 250 छात्रों सहमत नहीं तो कोई कैसे पद पर बना रह सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App