Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 

 Green Tea पीने के फायदे जानकर, आज से पीना कर देंगे शुरू

0
Green tea benefits: ग्रीन टी (Green tea) से होने वालों फायदों को लेकर तमाम दावे किए जाते हैं. कुछ लोग कहते हैं कि ग्रीन...

इन सवालों से समझें पूरे गुजरात चुनाव का गणित: क्यों AAP का दिल्ली मॉडल...

0
गाँधीनगर: यदि गुजरात में इस ऐतिहासिक भाजपा जीत के पीछे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के अलावा कोई महत्वपूर्ण कारण है, तो वह है...

Himachal Election Result 2022: अन्य के खाते में आई 3 सीटे, जाने किसने की...

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है।कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

हिमाचल से जीतने के बाद कांग्रेस विधायकों की चंडीगढ़ में बैठक, राजस्थान या छत्तीसगढ़...

0
नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश के कांग्रेस विधायक दल की बैठक चंडीगढ़ में होगी। कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक पहले यहां चंडीगढ़ में जीते हुए विधायक...

Himachal Election Result 2022: कांग्रेस ने मारी बाजी, जाने हर सीट के नतीजे

0
शिमला: हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस शानदार प्रदर्शन करते हुए बीजेपी से आगे निकल गई है। कांग्रेस ने बहुमत का आंकड़ा पार कर लिया है।...

भीषण गर्मी के बीच आगरा पुलिस का तुगलकी फरमान, सड़क पर चेहरा ढक कर नहीं चल सकते 18 से 30 साल के युवा

आगरा: हाल ही में हुए आगरा और मथुरा में नकाबपोश बदमाशों द्वारा दो सराफा व्यापारियों की हत्या और शोरूम लूट की घटना के बाद प्रशासन सख्ती में दिख रही है.अब आगरा में कोई भी युवा अपना चेहरा छुपा कर नहीं चल सकता. पिछली घटनाओं से सबक लेते हुए आगरा के डिवीजनल कमिश्नर के. राममोहन राव ने प्रशासन को ये निर्देश दिया है कि कोई भी 18 से 30 साल की आयु का युवक पब्लिकली अपना चेहरा कवर नहीं कर सकता है. 

दरअसल, कमिश्नर राम मोहन राव ने मंडलीय समीक्षा बैठक के दौरान अफसरों को जिले में कानून व्यवस्था और सुरक्षा को लेकर निर्देश दिये. निर्देश के मुताबिक, अगर काफी अधिक गर्मी भी होगी, तब भी किसी पुरुष को अपना चेहरा ढंकने या फिर उसे नकाब लगाना की इजाजत नहीं दी जाएगी.  
 
इतना ही नहीं, अगर कोई हेलमेट पहन कर सड़क पर पैदल चलता है, तो वो भी शक के दायरे में रहेगा. इस नये आदेश के मुताबिक, नौजवानों और पैदल चलने वालों पर भी पुलिस की विशेष नजर होगी. हालांकि, नकाब पहनने या फिर मुंह पर कपड़ा बांधने संबंधित नियम से लड़कियों और महिलाओं को छूट दी गई है. हालांकि, कमिश्नर ने इसे तुगलकी फरमान मानने से इनकार कर दिया है.
 
अधिकारियों के मुताबिक, अक्सर ऐसे लोग ही अपराध करते हैं. अधिकारी के मुताबिक, मुझे कोई समस्या नहीं है अगर महिलाएं और बुजुर्ग सार्वजनिक रूप से स्कार्फ से अपने चेहरे को कवर कर रहे हैं, लेकिन पुरुषों को यह नहीं करना चाहिए, भले ही काफी गर्म मौसम क्यों न हो. उन्हें सड़क पर पैदल चलते वक्त हेलमेट नहीं पहनना चाहिए. मथुरा में सभी हमलावरों ने चेहरे को कवर करके ही घटनाओं को अंजाम दिया है. 
 
गौरतलब है कि 18 से 30 साल के आयु वर्ग के युवा आम तौर पर अपने चेहरे को कवर कर चेन छीनने और अन्य ऐसे अपराधों को को अंजाम देते देखे जाते हैं. अधिकारियों को ऐसे युवकों पर नजर रखने का निर्देश दिया गया है. बता दें कि मथुरा और आगरा में सराफा व्यापारियों से लूट और हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले लूटेरे नकाब पहने थे. उनमें सभी की उम्र भी लगभग 18 से 30 साल के बीच की है.
 
बता दें कि बीते 15 मई को दो सराफा व्यापारी विकास और मेघ अग्रवाल को 6 नकाबपोश हमलावरों ने गोली मार कर हत्या कर दी थी. इतना ही नहीं, हमलावर 4 करोड़ रुपये के गहने भी लूटकर ले जाने में सफल हुए थे. 

Latest news