नई दिल्ली. देश की सर्वोच्च अदालत ने एक ऐतिहासिक फैसला दिया है, ऐसा फैसला जिसके बाद बिन ब्याही माएँ इस मुल्क में सिर उठाकर अपने बच्चे की परवरिश कर सकेंगी. उनके बच्चे के नाम के आगे पिता के नाम की जरूरत नहीं पड़ेगी न पिता की पहचान बतानी पड़ेगी.

आज अभियान में इस सुप्रीम फैसले पर ही चर्चा की गई.