मध्य प्रदेश : मध्य प्रदेश में महिलाएं पुल न होने के कारण गांव के मुख्य मार्ग में बहने वाले नाले में कपड़े ऊंचे करके निकलने को मजबूर हो रही हैं. 
 
 
महिलाओं, छात्र-छात्राएं और किसान को भी इस परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. एक नहीं ब्लकि सात गांव से भी अधिक लोग नाले में बह रहे पानी के बीच से निकलने को मजबूर हैं. पीडब्ल्यूडी के एक अधिकारी ने कहा की पिछले साल सितंबर माह में शासन को प्रस्ताव भेजा गया था, स्वीकृत मिलने के बाद जल्द से जल्द पुलिया का निर्माण किया जाएगा. 
 
सही समय पर एक्शन नहीं लिए जाने के कारण ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. ग्रामीणों ने परेशान आकर सीएम हेल्प लाइन पर जिला मुख्यालय के अधिकारियों की शिकायत भी की जिसके बाद पीडब्ल्यूडी विभाग ने पुलिया बनाने की सुध लेते हुए प्रस्ताव को भोपाल भेजा लेकिन वह भी ठंडे बस्ते में चला गया.
 
 
यह मामला बडवानी जिले के ग्राम भमोरी का है जहां ग्रामीणों को मुख्य मार्ग में बहने वाले नाले में से निकलकर किसानों को अपने खेत, छात्र अपने स्कूल और महिलाएं मजदूरी के लिए खेतों में जाती है. महिलाएं भी सीएम शिवराज से पुलिया बनाने की मांग कर रही है.बारिश के मौसम में ये रास्ता कई दिनों तक बंद रहता है जिससे बच्चो की पढ़ाई और किसानो को खेत में नुकसानी उठाना पड़ता है. अब ग्रामीणों के सामने सिर्फ इंतजार ही करना एक मात्र रास्ता शेष बचा है.