नई दिल्ली : ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना अब पांच गुना तक महंगा हो गया है. केंद्रीय परिवहन मंत्रालय ने 5 गुना तक फीस बढ़ाई है और दिल्ली सरकार ने भी इसको पारित कर दिया है. हालांकि, दिल्ली सरकार इसका विरोध करने की बात कह रही है. 
 
सोमवार से ही दिल्ली के परिवहन विभाग ने बढ़े हुए दाम और पेनाल्टी ले रही है. ये फीस लर्निंग और पर्मानेंट लाइसेंस दोनों पर बढ़ाई गई है. लर्निंग लाइसेंस की बात करें तो बाइक पर पहले 40 रुपये शुल्क लिया जाता था, जिसे बढ़ाकर 200 रुपये कर दिया गया है. 
 
 
बाइक-कार पर यह शुल्क 70 रुपये से 350 रुपये कर दिया है. बाइक-कार हैवी पर शुल्क 100 रुपये से 500 रुपये हो गया है. वहीं, परमानेंट लाइसेंस फीस में बाइक पर शुल्क 250 रुपये से 700 रुपये हो गया है. बाइक-कार पर 300 रुपये की बजाए 1000 रुपये शुल्क देना होगा. वहीं, बाइक-कार हैवी पर 350 रुपये की बजाये 1300 रुपये शुल्क तय किया गया है.
 
मजदूर ट्रांसपोर्ट यूनियन ने किया विरोध
जब इस बारे में दिल्ली के परिवहन मंत्री सतेन्द्र जैन ने कहा कि ये तो केन्द्र सरकार ने ही लागू किया है. हमें बढ़े हुए दाम का विरोध करते है. हम पत्र लिखेंगे कि रेट को कम किया जाए. साथ ही जैन ने कहा कि धीरे-धीरे रेट बढ़ाना चाहिए, एक साथ पांच गुना बढ़ा देना ठीक नहीं है. ये उनकी अपनी मर्जी है.
 
 
वहीं, भारतीय मजदूर ट्रांसपोर्ट यूनियन ने केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी और दिल्ली सरकार के परिवहन मंत्री सतेन्द्र जैन का विरोध करते हुए कहा कि अगर दाम कम नहीं हुए, तो हम 26 जनवरी के बाद पूरे देश में चक्का जाम करेंगे.