चेन्नईः तूतीकोरिन एयरपोर्ट पर एक महिला को तमिलनाडु के बीजेपी अध्यक्ष तमिलसाई सुंदरराजन के सामने भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ नारे लगाने के चलते गिरफ्तार कर लिया गया. जिसके बाद इस पर राजनीति भी शुरू हो गई है. विपक्षी दल तुरंत छात्रा को रिहा करने की मांग कर रहे हैं उनका कहना है कि ये लोकतंत्र और आजादी के खिलाफ है. इस मौके पर डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन ने कहा कि यह मामला लोकतंत्र और बोलने की आजादी के खिलाफ है. मैं भी इस तरह के नारे लगाऊंगा, फासीवाद बीजेपी सरकार हाय-हाय

लुई सोफिया नाम की महिला विमान में तमिलसाई सुंदरराजन के साथ तूतीकोरिन पहुंची थी. जैसे ही तमिलनाडु की बीजेपी अध्यक्ष अपना सामान लेने बॉक्स के पास पहुंची महिला फांसीवाद बीजेपी सरकार हाय-हाय के नारे लगाने लगी. जिसके बाद महिला और बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष के बीच तीखी बहस हो गई और तूतीकोरिन एयरपोर्ट थाने की पुलिस ने सोफिया को हिरासत में ले लिया. 

इस सिलसिले में सुंदरराजन ने पत्रकारों के बात करते हुए बताया कि एक अधेड़ उम्र की महिला मुझे देखते हुए नारेबाजी करने लगी और अराइवल गेट तक मेरा पीछा किया. उन्होंने कहा कि उसके हाव-भाव डरावने थे. मुझे लगता है कि  इसके पीछे किसी संगठन का हाथ है. वहीं बीजेपी प्रवक्ता नारायणन तिरुपति ने इस मामले में कहा कि सोफिया ने फ्लाइट में भी बीजेपी के खिलाफ नारेबाजी की. लेकिन उस वक्त सुंदरराजन ने इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी. तूतीकोरिन एयरपोर्ट पर सुंदरराजन ने इस मामले को लेकर पुलिस से शिकायत की. जिसके बाद भी सोफिया नारेबाजी करती रही जिसको लेकर दोनों में तीखी बहस हो गई.

आपको बता दें कि बीजेपी के खिलाफ नारे लगाने वाली सोफिया लेखिका हैं और उन्होंने स्टरलाइट और चेन्नई-स्लेम हाइवे प्रोजेक्ट का भी विरोध किया था. बताया जा रहा है कि कनाजा में रिसर्च कर रही सोफिया अपने घर वापस जा रही थीं और सुंदरराजन के सीट के पीछे बैठी थीं.विमान में वह अचानक अपनी सीट से उठी और बीजेपी फांसीवाद के नारे लगानेन लगी. 

यह भी पढ़ें- तमिलनाडु के सरकारी अस्पताल में लापरवाही की हद, डॉक्टर की जगह कर्मचारी ने लगाए महिला को टांके

भाई एम के अलागिरी से विवाद के बीच एम के स्टालिन को मिली पिता एम. करुणानिधी की जगह, चुने गए DMK अध्यक्ष

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App