जमशेदपुर : स्वच्छ भारत अभियान के लक्ष्य को पाने के लिए लोग भी अपनी-अपनी तरह से योगदान दे रहे हैं. किसी ने बेटी को दहेज में टॉयलेट दिया तो, कहीं लड़की ससुराल में टॉयलेट न होने की वजह से लौट आई है. 
 
अब एक बच्ची ने स्वच्छ भारत अभियान में योगदान देने की कोशिश की है. झारखंड के जमशेदपुर की रहने वाली 11 साल की मोंद्रिता चटर्जी ने अपनी पॉकेट मनी से शौचालय बनवा दिया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छता अभियान से प्रेरित होकर मोंद्रिता ने अपनी छोटी-छोटी बचतों से दो शौचालयों का निर्माण करवा दिया है. 
 
साल भर में जमा किए 24 हजार 
मोंद्रिता जमशेदपुर के हिल टॉप स्कूल की कक्षा 6 में पढ़ती हैं. अपनी छोटी-सी उम्र में उसने एक बढ़ा योगदान दिया है. इस बच्ची के असाधारण काम से खुश होकर झारखंड के मुख्यमंत्री रघुबर दास ने कहा, ‘मैं बेहद खुश हूं कि एक स्कूल की लड़की ने अपनी पॉकेट मनी टॉयलेट के निर्माण में लगाई. वह हम सभी के लिए एक प्रेरणा है.’ स्वच्छता में मोंद्रिता के योगदान को देखते हुए राज्य सरकार की तरफ से उन्हें सैनिटेशन चैम्पियन सर्टिफिकेट भी दिया गया है.  
 
मोंद्रिता के पिता एक निजी हेल्थ केयर सेंटर में काम करते हैं. उन्होंने बताया कि मोंद्रिता साफ-सफाई के मामले में काफी सजग रहती है. वहीं, मोंद्रिता ने बताया कि वह साल 2014 से अपनी पॉकेट मनी बचा रही थी. 12 महीनों में मोंद्रिता ने 24 हजार रुपये बचाए और उनमें पोटका ब्लॉक में टॉयलेट बनवाया. उनका कहना है कि वह आगे भी ऐसे ही योगदान देती रहेंगी.