नई दिल्ली. डीडीए के डायरेक्टर रविदीप सिंह और उनकी वाइफ से हाथापाई और बदसलूकी का मामला सामने आया है. वारदात दिल्ली के पॉश एरिया सीरी फोर्ट ऑडिटोरियम के पास रेड लाइट सिग्नल पर हुई. रविदीप सिंह अपनी कार में वाइफ और छोटी बेटी के साथ थे. उनकी गाड़ी को एक तेज रफ्तार कार ने टक्कर मार दी.
 
आरोप है कि उसके बाद उसमें सवार नशे में धुत चार लड़कों ने फैमिली से बदतमीजी की. इस दौरान उनकी बच्ची चीखती-चिल्लाती रही. एक आरोपी मोबाइल से उनकी वाइफ की विडियो बनाने लगा. पुलिस वहां पहुंची, लेकिन आरोपी इस कदर बेखौफ थे कि वे पुलिसवालों से भी भिड़ गए और फोन कर अपने कुछ और साथियों को वहीं पास शाहपुर जट से बुला लिया वो लोग भी आकर पुलिस और पीड़ित से भीड़ गये. पीड़ित DDA में अधिकारी है वह परिवार सहीत जिसमे उनकी दस साल की बेटी भी थी, वह एयर पोर्ट जा रहे थे. 
 
महिला की शिकायत पर हौजखास पुलिस ने केस दर्ज कर चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है. पुलिस के अनुसार सभी युवक नशे की हालत में थे और शाहपुर जट के रहने वाले हैं और चारों स्टूडेंट हैं.
 
इस घटना में एक तरफ इंसानियत किस कदर गिर जाती हैं वही दूसरी तरफ की इंसानियत देखिये रात में जब ये घटना हुई उसके बाद चुकी थी. उन लोगों को अपनी बच्ची को छोड़ने के लिए एयर पोर्ट जाना था. हादसा होने की वजह से गाड़ी तो डैमेज हो गयी थी तभी उधर से उबर कैब की टैक्सी गुजर रही थी जिसे पीड़ित रवी दिप ने हाथ दिया तो कैब रुक गयी अपनी आपबीती बताई तो बिना बुकिंग के हीं एयर पोर्ट छोड़ने के लिए तैयार हो गया और एयर पोर्ट छोड़ने के बाद कैब वाले ने पैसे तक नही लिए.