नई दिल्ली. हनीमून पर विदेश जा रहे कपल्स अक्सर ये गलतियां करते हैं जिसकी वजह से या तो देश के अंदर उन्हें फ्लाइट पर चढ़ने नहीं दिया जाता या फिर विदेश पहुंचकर भी एयरपोर्ट से ही वापस लौटा दिया जाता है. क्या है वो गलतियां जो आपके हनीमून प्लान को कर सकती हैं फेल, पढ़ें.
 
बुधवार को दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर हनीमून के लिए दुबई जा रहे एक कपल को विमान में सवार होने की अनुमति नहीं दी गई. दरअसल महिला को जारी वीजा में वाइफ ऑफ के आगे पति का नाम लिखा था लेकिन पासपोर्ट शादी से पहले की थी जिस पर पति का नाम नहीं था. ऐसे में उन्हें विमान में सवार होने से रोक दिया गया.
 
कई बार देश से निकलकर विदेशी हवाई अड्डे तक पहुंच जाने के बाद भी इमिग्रेशन वाले ऐसे कपल्स को वापस लौटा देते हैं क्योंकि उनके वीजा और पासपोर्ट के डिटेल मैच नहीं करते. कई बार पासपोर्ट एक्सपायर होने की तारीख 6 महीने से कम होने पर भी लोग एयरपोर्ट से लौटा दिए जाते हैं.
 
हनीमून का पैकेज लें तो चेकलिस्ट में ये पेपर भी शामिल करें
 
जब भी आप विदेश यात्रा के लिए जाएं तो सारे दस्तावेज अपने साथ रखें. अगर पासपोर्ट पर अपने जीवन साथी का नाम नहीं लिखा है तो शादी के सबूत के तौर पर मैरिज सर्टिफिकेट और शादी की तस्वीरों को साथ में रखें. इसके बिना किसी भी वक्त और सफर के किसी भी स्टेज में आप बैरंग वापस किए जा सकते हैं.
 
सस्ते सफर के लिए लोग एक स्टॉपओवर वाली फ्लाइट बुक कर लेते हैं लेकिन कई देश ऐसे हैं जहां स्टॉपओवर के लिए भी ट्रांजिट वीजा चाहिए. आपने टिकट कटा लिया लेकिन आपको पता ही नहीं कि जिस जगह बीच में रुकना है वहां ट्रांजिट वीजा लगेगा तो आप वहां से भी लौटाए जा सकते हैं.