नई दिल्ली. पंजाब के लुधियाना जिले में दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. जहां कुछ शराब तस्करों ने एक दलित युवक के दोनों पैर काट दिए. जिसकी वजह से युवक की मौत हो गई. हत्यारोपी युवक की एक कटी हुई टांग भी अपने साथ ले गए.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
घटना मानसा जिले के घरांगना गांव की है. आरोप है कि शराब की तस्करी को लेकर दो गुटों में झगड़ा रहता था. जिस युवक की हत्या हुई है उसके घरवालों का कहना है कि आरोपी अगवा कर युवक को ले गए और उसके दोनों पांव और एक हाथ काट दिए.
 
खबरों के अनुसार मानसा के गांव घरागणां में सोमवार रात 20 वर्ष के दलित युवक सुखचैन सिंह को शराब माफियाओं ने अगवा किया. फिर दोनों पांव और हाथ काट डाले. जिसके बाद युवक ने दम तोड़ दिया. 
 
गिरफ्तारी होने पर करेंगे अंतिम संस्कार
उधर, मृतक के परिजनों ने शव को मानसा अस्पताल में रखकर धरना दिया हुआ है. उनका कहना है कि जब तक शव के बाकी हिस्से नहीं मिल जाते और आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती तब तक वह अंतिम संस्कार नहीं करेंगे.
 
बता दें कि पिछले 11 दिसम्बर को अबोहर के गांव रामसरा में शिवलाल डोडा के फार्म हाऊस में अबोहर वासी दलित समुदाय से संबंधित भीम टांक की हत्या कर दी गई थी, जबकि उसका सहयोगी गुरजंट सिंह बुरी तरह घायल हो गया था. पुलिस ने इस मामले में पहले 10 तथा बाद में 16 अन्य व्यक्तियों के विरुद्ध मामला दर्ज कर लिया था.