नई दिल्ली. लंका का राजा महाज्ञानी रावण कई चीजों में पारंगत था, वह ज्योतिष शास्त्र के साथ-साथ तंत्र शास्त्र का भी महाज्ञाता था. इन सभी कलाओं की वजह से रावण के संपर्क में जो भी आता था वह साहसी होने के साथ-साथ उससे मोहित भी हो जाता था. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रावण के बारे में बहुत कम लोगों को पता है कि वह तांत्रिक साधना पर ज्यादा ध्यान देता था. इसी वजह से उसका प्रभाव इन्हीं तंत्र साधनाओं की वजह से उसका प्रभाव चारो ओर था. रावण ऐसे कई उपाय करता था जिसमें सामान्य इंसान भी उसे देखे तो वह उससे आकर्षित हो जाता था.
 
रावण संहिता में कई ऐसे तांत्रिक तिलक की चर्चा की गई है, जिसमें जो भी व्यक्ति यह तिलक लगाता है खुद ही लोग उसकी तरफ अपने आप खिंचे चले आते हैं.
 
ये हैं वह दशानन के तांत्रिक तिलक…  
  1. सबसे पहले आप सफेद आंकड़े (अकवन) को छाया में अच्छे से सुखा लें. इसके बाद सफेद गाय के दूध में मिलाकर उसे पीस लें, फिर अपने ललाट (माथा) पर उसका तिलक लगाएं. जो व्यक्ति ऐसा करता है उसका समाज में वर्चस्व स्थापित हो जाता है.
  2. दूसरा आप अपामार्ग के बीज को बकरी के दूध में मिलाएं फिर उसे पीसकर उसका अच्छे से लेप बनाकर लगाएं. इस लेप को जो व्यक्ति लगाता है उसका समाज में काफी आकर्षण बढ़ जाता है. उस व्यक्ति का कहा सभी लोग मानते हैं.
  3. आप दुर्वा घास के चमत्कार के बारे में पहले से ही आप जानते होंगे. इसके चमत्कार का शास्त्रों में भी काफी वर्णन किया गया है. यदि कोई व्यक्ति सफेद दुर्वा घास का सफेद गाय के दूध के साथ लेप बनाकर तिलक लगाए तो वह व्यक्ति किसी भी काम में असफल कभी नहीं होगा.
  4.  अगर आप आप समाज, घर या फिर ऑफिस जैसी जगहों पर आकर्षक का कारण बनना चाहते हैं तो बिल्वपत्र और बिजौरा नींबू को बकरी के दूध में मिलाएं, फिर उसका तिलक लगाएं. ऐसा करने पर आपका हर जगह पर आकर्षण बढ़ेगा. साथ की साथ हर जगह लोगों का ध्यान आपका अपनी तरफ खींचने में सफल रहेंगे.