चाईबासा. झारखंड के चाईबासा में एक ऐसी घटना सामने आई है. जिसको सुनने के बाद आप ये कहने के लिए मजबूर हो जाएंगे कि इस कलयुग में भी सकुनी मामा जिंदा है. पुड़दा गांव में एक युवक ने अपनी भांजी का ही गला रेतने लगा. बच्ची के चिल्लाने पर लोगों ने मामा के हाथों से भांजी को बचाया. हॉस्पिटल में भर्ती है बच्ची. ग्रामीणों के मुताबिक आरोपी युवक शीतल पिंगुवा की मानसिक हालत सही नहीं है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
वो पहले भी झारखंड के काके हॉस्पिटल में इलाज के लिए भर्ती रहा है. बता दें कि आरोपी युवक पहले अपने भगिनी को अकेले में बुलाया. फिर बच्ची को पकड़कर उसके गले को ब्लेड से काटने लगा. बच्ची के चिल्लाते ही लोग वहां पहुंचे. तब तक आरोपी शीतल बच्ची के गले पर ब्लेड चला चुका था.लोगों ने शीतल से बच्ची को छुड़ाकर उसे चाईबासा के हॉस्पिटल में भर्ती कराया.
 
इस घटना को देखते ही वहां मौजूद लोगों के होश उड़ गए थे. उन्हें समझ में नहीं आ रहा था कि कैसे बच्ची को बचाया जाए. ग्रामीणों ने बच्ची को छुड़कार आरोपी को पुलिस के हवाले कर दिया है. हालांकि, आरोपी के रिश्तेदार होने की वजह से कोई केस नहीं चलाना चाहता है. उसे फिर से झारखंड के काके हॉस्पिटल में भर्ती कराने की बात कर रहे हैं.