नई दिल्ली. नांगलोई में एक सरकारी शिक्षक की हत्या का मामला सामने आया है. शिक्षक की हत्या किसी और ने नहीं बल्कि उसकी कक्षा के छात्रों ने की है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
…तो सिर्फ इसलिए ले ली जान
पुलिस के अनुसार शिक्षक की हत्या के मामले में उसने एक 12 वीं के छात्र के साथ एक अन्य छात्र को भी गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपी में से एक नाबालिग है. बताया जा रहा है कि क्लास में नहीं आने पर शिक्षक ने आरोपी छात्रों का क्लास से नाम काट दिया था. जिससे खुन्नस खाकर छात्रों न इस खौफनाक घटना को अंजाम दिया. 
 
चाकुओं से किए ताबड़तोड़ वार
ज्वॉइंट सीपी दीपेंद्र पाठक के अनुसार पुलिस ने शिक्षक की हत्या मामले के आरोपी दो छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है. जिसमें से एक छात्र नाबालिग है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि शिक्षक जब क्लास में कुछ काम कर रहे थे तभी आरोपी छात्रों ने उस पर चाकूओं से हमला कर दिया. जिससे शिक्षक गंभीर रुप से घायल हो गया, इलाज के दौरान अस्पताल में मौत हो गई.

जिसके बाद पुलिस ने मंगलवार की सुबह आरोपी छात्रों को गिरफ्तार कर लिया. दोनों 12 वीं के छात्र हैं, जिनमें से एक नाबालिग है.
 

शिक्षकों ने कहा, है एक गिरोह
घटना के बाद स्कूल के शिक्षकों का आरोप है कि वारदात को अंजाम देने वाले छात्रों का पूरा गिरोह है, जिसमें छह छात्र शामिल है. शिक्षक एसोसिएशन के मुताबिक मुकेश स्कूल में हिन्दी के टीचर थे.
 
पहले हुई थी बहस
स्कूल की दूसरी पाली में सोमवार को बारहवीं कक्षा के छात्रों का अर्थशास्त्र का एग्जाम था. शाम करीब साढे पांच बजे परीक्षा खत्म होने के बाद क्लॉस से छात्र बाहर निकल चुके थे. मुकेश पेपर पर नंबर डाल रहे थे, तभी वहां आए छह लडक़े पहुंचे और मुकेश से बहस करने लगे. 

इसी दौरान एक छात्र ने पंच से शिक्षक पर हमला कर दिया, इससे पहले शिक्षक संभल पाते की दूसरे छात्र ने मुकेश पर चाकू से ताबड़तोड़ वार कर दिए. आरोपी छात्र ने पेट और जांघ पर चाकू से पांच वार किए, जिसे के बाद मुकेश मौके पर ही ही गिर गए.

 
अस्पताल में तोड़ा दम 
यहां वारदात के बाद शोर मच गया जिसके बाद हमलावर सभी लडक़े वहां से भाग गए. मामले की खबर मिलने के बाद स्कूल प्रशासन ने फौरन घायल टीचर को पश्चिम विहार स्थित बालाजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां देर शाम मुकेश की मौत हो गयी.