अलवर. राजस्थान के अलवर शहर में पुलिस चौकियां तो कई हैं लेकिन उनकी सुध लेने वाला वहां कोई नहीं है. आलम तो यह है कि यहां की पुलिस चौकियां चौकियां कम, खण्डहर ज्यादा लग रही हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
राजस्थान पत्रिका की खबर के मुताबिक अलवर के ज्यादातर पुलिस चौकियों पर ताले लटके हुए हैं. किसी चौकी पर पुलिसकर्मी तैनात तो हैं लेकिन वे दिखाई नहीं देते. पड़ताल के दौरान कहीं टूटे दरवाजे देखने को मिले तो कहीं उखड़ी टिनशेड से सामना हो गया. बदबू और गंदगी तो इतनी थी कि कोई पास भी भटकना नहीं चाहेगा. इन सब में चौंकाने वाली बात तो यह है कि पुलिस रिकॉर्ड में सभी चौकियां चालु हैं.
 
बंद पड़ी इन चौकियों में केडलगंज स्थित पुलिस चौकी, अखैपुरा पुलिस चौकी, जगन्नाथ मंदिर (पुराना कटला) पुलिस चौकी, तीजकी पुलिस चौकी, लालगेट गणेश मंदिर के पास स्थित चौकी शामिल है. दरअसल पुलिस के पास नफरी की कमी बताई जा रही है लेकिन सोचने वाली बात यह है कि आमजन की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ कहां तक जायज है.