दिल्ली. दिल्ली में अब ट्रैफिक के नियमों के प्रति जागरुकता फैलाने का काम ट्रांसजेंडर करते नजर आएंगे. लाल बत्ती पर घंटो तक लगने वाली ट्रैफिक पर कंट्रोल करने के लिए दिल्ली पुलिस और ट्रैफिक पुलिस ने  टांसजैंडर से मदद लेने शुरुआत की है. 
 
ट्रैफिक कंट्रोल करने के लिए किन्नरो की मदद लेने के लिए दिल्ली विधिक सहायता प्राधिकरण (डीएलएसए) के प्रस्ताव को ट्रैफिक पुलिस ने मंजूरी दे दी है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आपको बता दें कि वाहन चालको को यातायात के नियमों के प्रति जागरुकता फैलाने के लिए लॉ कॉलेज के कुछ छात्रों ने इसकी शुरुआत की थी, जिसमें हाल ही ट्रांसजैंडर को शामिल करने का प्रस्ताव भी भेजा गया. इस योजना के तहत करीब 250 छात्र और 30 ट्रांसजेंडर को ट्रेनिंग दी जा रही हैं. इन्हें लाल बत्ती पर चालकों को सीट बेल्ट लगाने, रेड लाइट क्रॉस नहीं करने, स्पीड कब कैसी हो इन सभी ट्रेफिक नियमों के तरीकों के बारे में बताया जा रहा है.