नई दिल्ली. शनिवार को दिल्ली के इंडिया हैबिटेट सेंटर में सिद्धार्थ वशिष्ठ चेरिटेबल ट्रस्ट ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया. इस कार्यक्रम में कैदियों के बच्चों पर बनी एक डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई जिसमें दिखाया गया कि कैदियों के बच्चे समाज में किस कदर अपना जीवन जीते हैं.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
कार्यक्रम में फिल्म निर्देशक मधुर भंडारकर, दिल्ली के पूर्व पुलिस कमिश्नर वीके गुप्ता और जस्टिस के के लाहोटी जैसी हस्तियां मौजूद थीं. कार्यक्रम में डॉक्यूमेंट्री के जरिए दिखाया गया कि जिन बच्चों के माता-पिता जेल में सजा काट रहे होते हैं उनके प्रति समाज का क्या रवैया होता है ? समाज के लोग उन बच्चों के साथ किस तरह का व्यवहार करते हैं ? उन बच्चों को कौन-कौन सी दिक्कतों का सामना कर पड़ता है ?
 
कार्यक्रम के अंत में वहां मौजूद लोगों से इस बात की अपील की गई कि वे लोग ऐसे बच्चों की मदद करने के लिए आगे आएं, ताकि जेल में सजा काट रहे लोगों के बच्चों को भविष्य उज्जलव हो सके. सिद्धार्थ वशिष्ठ चेरिटेबल ट्रस्ट उन बच्चों की देखभाल करती है जिनके माता-पिता जेल में किसी कारणवश सजा काट रहे होते हैं.