अहमदाबाद. गुजरात में दलित आंदोलन की अगुआई करके चमके जिगनेश मेवानी ने गिरफ्तारी के बाद पीएम मोदी पर निशाना साधा है. शुक्रवार की शाम गिरफ्तार किए गए जिग्नेश ने कहा कि मोदी सरकार में दलितों के लिए आपातकाल जैसे हालात पैदा हो गए हैं. उनकी सुरक्षा की कोई गारंटी नहीं है.
 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
सरकारी सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम में किसी प्रकार का व्यवधान ना हो.  इसलिए इन लोगों को गिरफ्तार किया गया है. साथ ही कुछ पाटीदार नेताओं को भी गिरफ्तार किया गया है.  जिग्नेश के भाई ने भी सोशल मीडिया पर इस खबर की पुष्टि की है. 
 
एक अंग्रेजी वेबसाइट के अनुसार जिग्नेश मेवानी को 200 युवकों के साथ पुलिस ने हिरासत में ले लिया है. जहां सरदार वल्लभ भाई पटेल एयरपोर्ट पर उन्हें हिरासत में लिया गया. बता दें कि जिग्नेश दलित स्वाभिमान संघर्ष सभा में भाग लेकर अहमदाबाद लौटे थे. इस सभा को बाबा साहब अंबेडकर के पोते प्रकाश अंबेडकर ने संबोधित किया था. इस सभा में सीपीआई-एम नेता सीताराम येचूरी समेत कई वामपंती नेता शामिल हुए थे. 
 
बता दें कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का जन्मदिन है, जिसके चलते पीएम मोदी गृहराज्य गुजरात के दो दिन के दौरे पर हैं. आलाकमान के अनुसार पार्टी के छोटे-बड़े सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं को उनके जन्मदिवस को सेवा दिवस के रुप में मनाने का फरमान सुनाया गया है. जिग्नेश के एयरपोर्ट पहुंचने के बाद पीएम मोदी को पहुचना था. इसलिए विरोध के डर से मेवानी को पहले ही पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया.
 
सूत्रों के अनुसार पीएम मोदी के जन्मदिन पर पाटीदार समुदाय के विरोध के डर के चलते हार्दिक पटेल को भी गिरफ्तार किया गया है. इससे पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की सभा में हार्दिक समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया था जिसके बाद उनकी सभा फ्लॉप हो गयी थी. साथ ही लोगों के विरोध के चलते ही आयोजनकर्ताओं को सभा स्थल पर मंच को लोहे की सलाखों से कबर्ड करना पड़ा था.