वाराणसी. यूपी के वाराणसी में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. यहां एक 6 साल के बच्चे के पेट में 6 साल का अविकसित भ्रूण पाया गया है. एक निजी अस्पताल में डॉक्टरों की टीम ने बच्चे के पेट का ऑप्रेशन कर भ्रूण को बाहर निकाल लिया है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
रिपोर्ट्स के अनुसार झारखंड के गढ़वा जिले के निवासी वीरेन्द्र भारतीय का बेटा रितेश केवल 6 साल का है. रितेश कई महीनों से पेट में दर्द होने की बात कहता था. पेट दर्द की शिकायत के बाद परिजनों ने उसे कई जगह दिखाया. बाद में उसे एक अस्पताल में भर्ती कराया गया. जहां डॉक्टरों ने बच्चे के पेट में गांठ होने की बात कही. इसे लेकर डॉक्टरों ने परिजनों को ऑपरेशन की सलाह दी.
 
ऑपरेशन के दौरान डॉक्टरों ने पाया कि जिसे वो गांठ समझ रहे थे वो कोई गांठ नहीं बल्कि अविकसित भ्रूण था. लगभग 3 घंटे की मशक्कत के बाद डॉक्टरों ने उस अविकसित भ्रूण को बाहर निकाला. 
 
क्या कहना है एक्सपर्ट्स का ?
वहीं पूरे मामले पर एक्सपर्ट्स का कहना है कि कई बार मां के गर्भ मे दो बच्चों के भ्रूण पल रहे होते हैं. लेकिन किसी वजह से एक का विकास पूरी तरह से नहीं हो पाता है. ऐसे में यह अविकसित भ्रूण दूसरे बच्चे में ट्रांसफर हो जाता है. और यह बच्चे के पेट में ही बड़ा होने लगता है. लेकिन एक्सपर्ट्स का यह भी दावा है कि ऐसा मामला लाखों बच्चों में से किसी एक बच्चे में ही पाया जाता है.