फरीदाबाद. दिल्ली से सटे फरीदाबाद ये आई यह खबर बता रहा है कि वहां का प्रशासन कितना जागरुक है. गैंगरेप पीड़िता 3 दिन से पुलिस ऑफिस मुख्याल्य पर बैठी है और पुलिस घोड़े बेचकर सो रही है. पीड़िता ने थक-हारकर राष्ट्रपित प्रणब मुखर्जी से मदद की गुहार लगाई है और इच्छामृत्यु की इजाज़त मांगी है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
चौंकाने वाली बात यह है कि यह महिला तीन दिनों से तो धरने पर बैठी है, बल्कि वह कई महिनों से न्याय की आश लिए दर-दर भटक रही है लेकिन पुलिस ने आरोपियों को पकड़ने के लिए अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है. हालांकि राष्ट्रपति तक बात पहुंचने पर पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है. 
 
क्या है मामला
महिला द्वारा पुलिस में दर्ज शिकायत के मुताबिक 3 युवक और 1 महिला 2015 में उसे फ्लैट दिखाने के बहाने मथुरा ले गए. वहां पीड़िता को कोल्ड ड्रिंक में नशीला पदार्थ मिलाकर दिया गया. उसके बाद तीनों युवकों ने गैंगरेप किया और वीडियो बनाया. उसके बाद वे बार-बार वीडियो को शेयर करने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने लगे.
 
इस हरकत से परेशान होकर पीड़िता ने रिपोर्ट भी लिखवाई. इसके बाद आरोपियो ने महिला को धमकी दी और कहा कि यदि वह केस  वापस नहीं लेती है तो जो हाल उसका हुआ है वही हाल उसकी दो नाबालिग लड़कियों का भी होगा. यहां तक की आरोपियों के परिवार वालों ने भी महिला को धमकाया.
 
आखिरकार महिला ने तंग आकर महिला ने राष्ट्रपति से मदद की गुहार लगाया है, जिसके बाद दो आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है. वहीं गिरफ्तार आरोपियों के परिजनों ने सामूहिक आत्मदाह और इच्छामृत्यु के लिए महामहिम को चिट्ठी लिखने की बात कही है.