मुंबई. हाईकोर्ट ने तलाक के एक मामले में सुनवाई करते हुए पति से सेक्स ना करने वाली महिला की शारीरिक और मानसिक जांच के आदेश दिये हैं. कोर्ट ने मुंबई फैमिली कोर्ट के आदेश को बरकरार रखा है. बता दें कि फैमिली कोर्ट ने आदेश दिए थे कि जो महिला शादी के बाद पति के साथ संबंध बनाने में असमर्थ हैं. पति उसकी शारीरिक और मानसिक जांच करवा सकता है. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
बता दें कि 2011 में पति ने दावा किया था कि उसकी पत्नी ने शादी के काफी समय बाद तक उसके साथ शारीरिक संबंध नहीं बनाये. जिसके आधार पर पति ने फैमिली कोर्ट में तलाक की अर्जी दायर की थी. मामले की सुनवाई के दौरान मुंबई फैमिली कोर्ट ने महिला को आदेश दिया था कि उसे अपनी शारीरिक और मनोवैज्ञानिक जांच करवानी होगी. जिसके बाद महिला ने हाईकोर्ट में अपील की थी. 
 
 
हाई कोर्ट में जस्टिस के के टातेड की एकल खंडपीठ ने महिला की याचिका को खारिज करते हुए मुंबई फैमिली कोर्ट के फैसले पर अपनी भी मुहर लगा दी. कोर्ट ने कहा कि इस मामले में किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए ये जांच जरुरी है.