सिडनी. एयर एशिया के यात्रियों की उस समय सांसें रुक गईं जब पायलट विमान को लेकर कुआलालंपुर के बजाय मेलबॉर्न पहुंच गया. हालांकि विमान मेलबर्न में सुरक्षित लैंड कर गया.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
दरअसल 10 मार्च 2016 को एयर एशिया का ए330-300 विमान सिडनी से उड़ान भरा. विमान जैसे ही कुआलालंपुर के रास्ते में पहुंचा तो विमान गलत दिशा में उड़ने लगा. ये सब इसलिए हुआ क्योंकि पायलट ने विमान में गलत लॉन्‍गीट्यूडनल पोजीशन (देशांतर स्थिति) दर्ज कर दी थी.
 
 
इस पूरे वाकये का पता एयर कंट्रोलर को भी उस समय चला जब विमान गलत दिशा में चला गया, जिसके बाद वह चाह कर भी उसे रोक नहीं सकता था, फिर मजबूरन विमान को मेलबॉर्न उतारा गया.
 
बाद में जांच में पाया गया कि फ्लाइट का मैनेजमेंट सिस्‍टम का अपडेटेड नहीं था जिसके कारण गलत लॉन्‍गीट्यूडनल पोजीशन दर्ज हुई है, क्योंकि यदि सिस्टम अपडेटेड वर्जन होता तो डाटा एंट्री गलत नहीं होती. इस घटना के बाद सभी पायलटों और क्रू मेंबर को इस बारे में सचेत किया गया और नई ट्रेनिंग के लिए एक नया मैनुअल बनाया गया.