जम्मू-कश्मीर. खूंखार आंतकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन का सरगना सैयद सलाउद्दीन एक बार फिर आग उगला है. सलाउद्दीने ने अपने एक बयान में कहा कि वह कश्मीर को भारतीय फौज का कब्रगाह बना देगा.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
क्यों बौखलाया है सलाउद्दीन?
8 जुलाई को संदिग्ध चरमपंथी बुरहान वानी की सुरक्षाबलों के साथ कथित मुठभेड़ में मारे जाने के बाद से ही घाटी में तनाव बरकरार है. घाटी में शांति बहाल करने के लिए आज गृह मंत्री राजनाथ सिंह की अगुवाई में 28 सदस्यों का प्रतिनिधिमंडल घाटी श्रीनगर पहुंचा है. यह बात सलाउद्दीन को रास नहीं आ रही है.
 
उसने कहा, ‘यह बातचीत बेकार है. इससे कोई फायदा नहीं होने वाला है. कश्मीर का समाधान आतंकवाद ही है. इसके अलावा कोई रास्ता नहीं है.’
 
सबसे बड़ी बात यह है कि सलाउद्दीन का यह बयान उस वक्त आया है जब राजनाथ सिंह 28 सदस्यों के साथ जम्मू-कश्मीर पहुंचे हैं. राजनाथ की टीम घाटी में तनाव खत्म करने और शांति बहाल करने के उद्देश्य से गई है.
 
बता दें कि वानी के मारे जाने के बाद अभी तक घाटी से कर्फ्यू नहीं हटाया गया है. बीते दो महीनों में अब तक पुलिस और सेना की कार्रवाई में 72 लोगों की जान जा चुकी है और हजारों लोग घायल हुए हैं. मृतकों और घायलों में युवाओं की संख्या ज्यादा है.