नई दिल्ली. दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने जीबी रोड में सेक्स रैकेट चलाने वाले एक बड़े सिंडिकेट का पर्दाफाश किया है. पुलिस ने जीबी रोड ने 6 कोठे चलाने वाले अफाक हुसैन और उसकी पत्नी सायरा समेत 8 लोगों को गिरफ्तार किया है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
पुलिस के मुताबिक इनके 6 कोठों में 40 कमरे है जिनमें करीब 250 लड़किया थीं. क्राइम ब्रांच ने इन्हें एक हफ्ते पहले गिरफ्तार किया था सभी आरोपी अभी रिमांड पर हैं. क्राइम ब्रांच के मुताबिक अफाक की हर रोज़ की कमाई 10 लाख से ऊपर थी. इसके पास 100 करोड़ से ऊपर की संपत्ति की जानकारी मिली है. जिनमे शाहीनबाग़ में घर, जैतपुर में फार्महाउस, बैंगलोर में भी करोड़ों के सम्पति का पता चला है. इसके कई बैंक अकाउंट है जिनमें 6 करोड़ से ज्यादा नगदी मिली है. इसके पास से 6 लग्जरी गाड़ियां बरामद की गयी हैं.
 
पुलिस के मुताबिक अधिकतर लडकियां पश्चिम बंगाल, झारखण्ड, नेपाल,बिहार से लायी जा रही थीं. कोठों में लड़कियों को कंट्रोल करने के लिए सीनियर महिलाएं तैनात थी जिन्हें ‘नायिकाएं’ कहा जाता है. पुलिस का अनुमान है कि पिछले 20 सालों में ये गैंग करीब 5000 लड़कियों को इस धंधे में धकेल चुका है. अफाक एक लड़की को 50 हज़ार से 2 लाख रूपये में खरीदता था. अफाक का ड्राइवर रमेश पंडित लड़कियों की कमाई का हिसाब रखता था. सिंडिकेट में मैनेजर का काम सरफराज है जो फरार है. गैंग के कई लोग अब भी फरार है. जीबी रोड सेक्स रैकेट के इस केस में पुलिस ने सभी आरोपियों पर मकोका के तहत पहली बार कार्रवाई की है.