मुंबई. भीषण गर्मी और सूखे की मार झेल रहे महाराष्ट्र में हालात दिन पर दिन बद से बदतर होते जा रहे हैं. हर साल इस राज्य में सूखा पिछले साल से ज्यादा विकराल रुप धारण कर लेता है.  अगर यहीं हालात रहे तो वो दिन दूर नहीं जब इस राज्य से पानी हमेशा के लिए खत्म हो जाएगा. 
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आंकड़े के अनुसार जून 2016 तक राज्य के सभी जलाशयों में केवल 9 प्रतिशत ही पानी बचा हुआ है.  ये आंकड़ा जून 2015 में 16 प्रतिशत था. यानि पिछले साल से काफ़ी काम पानी बचा हुआ है. पानी के संकट से निबटने के लिए राज्य के क़रीबन 13000 गांवों में टैंकर के ज़रिए पानी सप्लाई किया जा रहा है. आइये हम आपको बताते हैं कि राज्य के किस इलाके में कितना पानी शेष है.
 
Stay Connected with InKhabar | Android App | Facebook | Twitter
 
एरिया के हिसाब से बात करें तो मराठवाडा के जलाशय में सिर्फ़ 1 प्रतिशत पानी बचा जो पिछले साल 5% था. वही कोंकण के जलाशयों में 29 प्रतिशत पानी बचा है. नागपुर में 17%, अमरावती में 10%, नासिक में 9%, वहीं पुणे में 7% पानी ही बचा हुआ है.