गुड़गांवः 18 साल की एक लड़की को 7 महीने तक बंधक बनाकर उसके साथ गैंगरेप का एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है. 7 माह पहले राजस्थान के भीलवाड़ा से लड़की को अगवा किया गया था. 15 दिन पहले तीनों आरोपी पीड़िता को गुड़गांव लेकर पहुंचे. यहां भी वह उसे बंधक बनाकर उसके साथ गैंगरेप कर रहे थे. तीन दिन पहले पीड़िता किसी तरह आरोपियों के चंगुल से भाग निकली और अपने माता-पिता के पास पहुंची. पीड़िता की शिकायत पर गुड़गांव पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर भीलवाड़ा पुलिस को भेज दी है. आरोपी अभी फरार हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, गुरुग्राम के सेक्टर-51 महिला थाना पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज की है. शिकायत के अनुसार, पीड़िता मूल रूप से भीलवाड़ा की रहने वाली है. उसके माता-पिता गुड़गांव में रहकर नौकरी करते हैं. 7 महीने पहले मुकेश, शिवा और दरबार नामक युवकों ने उसका अपहरण कर लिया था. दरबार को वह पहले से जानती थी. आरोपी उसे बंधक बनाकर पिछले 7 महीने तक गैंगरेप करते रहे.

आरोपी उसे गुजरात, राजस्थान और गुड़गांव के अलग-अलग इलाकों में ले गए. पीड़िता ने बताया कि इन 7 महीनों में सबसे ज्यादा समय उसे गुजरात में रखा गया. दरबार उससे रोज रेप करता था. अन्य दोनों कभी-कभार उससे रेप करते थे. 15 दिन पहले आरोपी उसे लेकर गुड़गांव पहुंचे और एक कमरे में बंद कर दिया. एक दिन उसने अपनी मां को सड़क से गुजरते देखा और किसी तरह वहां से भागकर वह अपनी मां के पास जा पहुंची.

मां को आपबीती बताने के बाद उन्होंने सीधे पुलिस स्टेशन का रुख किया और शिकायत दर्ज कराई. सेक्टर-51 महिला थाना प्रभारी राजबाला ने बताया कि पीड़िता की शिकायत के आधार पर तीनों आरोपियों के खिलाफ अपहरण, बंधक बनाकर रखने, गैंगरेप और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. जीरो FIR भीलवाड़ा पुलिस को भेज दी गई है. अग्रिम कार्रवाई वहीं पर होगी. फिलहाल तीनों आरोपी अभी फरार हैं.

बिहार में जंगलराज: मुजफ्फरपुर में 9 साल की बच्ची को रेप के बाद 7 साल के भाई के साथ मारकर फेंका

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App