चंडीगढ़. हरियाणा में हुए जाट आरक्षण आंदोलन के दौरान मारे गए 30 लोगों में से 9 को सरकार ने बेकसूर मानते हुए 10-10 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया है. ये जानकारी देते हुए हरियाणा हाउसिंग बोर्ड के चैयरमेन जवाहर यादव ने कहा कि अभी तक जो प्रशासनिक रिपोर्ट आई है, उसके आधार पर 9 लोग की पहचान की गई है.
 
उन्होंने बताया कि जो उपद्रव में शामिल नहीं थे और उन्हें अपनी जान गवानी पड़ी है, ऐसे 9 लोगों को मुख्यमंत्री ने अपने राहत कोष से 10-10 लाख रुपये की सहायता राशि दी है. 
 
यादव ने कहा कि किसी को भी कानून व्यवस्था से खेलने नहीं देंगे ये सरकार का दृढ़ संकल्प है. वहीं हरियाणा पुलिस के जवानों को हफ्ते में एक दिन रेस्ट देने के फैसले को यादव ने अच्छा फैसला बताया. यादव ने कहा कि बीजेपी सरकार जाति के आधार पर मूल्यांकन नहीं करती है. 
 
वहीं हरियाणा में कई जगह पर प्रदर्शन कर रहे जाटों के सवाल पर जवाहर यादव ने कहा कि जाट समाज को समझ आ गया है कि आरक्षण बीजेपी सरकार ने ही दिया है. इस मामले पर की जा रही राजनीति को लेकर बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष  सुभाष  बराला ने कहा है कि कुछ लोग साजिश करना चाहते है जबकि सामान्य समुदाय संतुष्ठ है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App