यमुनानगर: भीषण गर्मी के चलते हथनीकुंड बैराज पर पानी न के बराबर हो गया है. दिल्ली को पानी देने के लिए हरियाणा की सप्लाई भी बैराज से बंद कर दी गई है. हथनीकुंड बैराज पर यमुना का जल प्रवाह 13 सालों में सबसे ज्यादा घटकर 1064 क्यूसेक के न्यूनतम बिंदु पर पहुंच गया है. हथनीकुंड बैराज पर सिर्फ 1064 क्यूंसिक ही पानी बचा है. बता दें कि हथनीकुंड बैराज पर 2500 क्यूंसिक पानी रहता है. गर्मी के चलते हरियाणा की सप्लाई बाधित होने पर दक्षिण हरियाणा में इसका असर देखने को मिलेगा.
 
13 सालों का रिकॉर्ड टूटा
नदी के घटते जलस्तर के कारण गंभीर स्थिति उत्पन्न हो गई है. जलप्रवाह कम हो जाने के पिछले 13 सालों का रिकार्ड टूट गया है. सिंचाई विभाग के मुताबिक 13 दिसम्बर 1995 को 1130 क्यूसिक, 7 जनवरी 1996 को 1560, बीस जनवरी 2001 को 1595, 28 दिसम्बर 2003 को 1067, 18 जनवरी 2004 को 2539 क्यूसेक के कम स्तर पर यमुना पहुंच चुकी है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App