नई दिल्ली. जंतर-मतर में आम आदमी पार्टी की किसान रैली के दौरान फांसी लगाने वाले गजेंद्र सिंह की रिपोर्ट दिल्ली पुलिस ने जिलाधिकारी को सौंप दी है. इस मामले की तफ्तीश के दौरान दिल्ली पुलिस को दो अहम चश्मदीद मिले है. चश्मदीदों ने दावा किया है कि पेड़ पर चढ़ने के लिए कुछ लोग गजेंद्र सिंह को उकसा रहे थे. दिल्ली पुलिस इन दोनों चश्मदीदों को गवाह बना सकती है. सूत्रों के अनुसार पुलिस को लगता है कि गजेंद्र ने अपना संतुलन खो दिया. उसने संभवत: सिर्फ दिखाने के मकसद से अपने गले में गमछा बांध रखा था, तभी उसका पैर डाल से फिसल गया और गले में फांसी लगने से उसकी मौत हो गई.
 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर