नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी की अनुशासन समिति ने बागी नेता योगेंद्र यादव को नोटिस भेजा है. योगेंद्र यादव ने ट्वीट कर इसे हास्यास्पद और ‘जोक’ बताया है. #WhatAJoke के हैशटैग के साथ योगेंद्र यादव ने ट्वीट किया है, ‘अनुशासन समिति की ओर से मुझे आधी रात को कारण बताओ नोटिस मिला है. शिकायतकर्ता और प्रत्यक्षदर्शी खुद ही जज हैं. क्या मज़ाक है.’

उन्होंने यह भी पूछा कि कारण बताओ नोटिस प्राप्त होने से पहले ही इसका ब्यौरा मीडिया को कैसे मिल गया. यादव ने आरोप लगाया कि इसे पार्टी की अनुशासन समिति ने लीक किया है.

उन्होंने हैरानी जताई कि अध्यक्ष दिनेश वाघेला को शामिल किए बिना राष्ट्रीय अनुशासन समिति ने कदम कैसे उठाया. उन्होंने दावा किया कि टेलीफोन पर हुई बाचीत में वाघेला, जो दिल्ली में नहीं हैं, ने उनसे कहा था कि समिति को अभी मामले पर विचार करना है.