नई दिल्ली. महिलाओं की विश्व चैंपियनशिप में भारतीय मुक्केबाज मंजू रानी की शानदार शुरुआत रविवार को रजत पदक के साथ समाप्त हो गई. वह रविवार को रूस की एकातेरिना पल्त्सेवा (Ekaterina Paltceva) से 48 किग्रा वर्ग के फाइनल मुकाबले में हार गईं. रूस की मुक्केबाज ने 48 किलोग्र वर्ग में छठी सीड प्राप्त मंजू रानी को 4-1 से हराया.

यह वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में भारत का चौथा पदक है. भारत के 3 मुक्केबाजों ने इससे पहले सिल्वर मेडल पर कब्जा जमाया. 18 साल बाद यह पहला अवसर है जब किसी भारतीय महिला मुक्केबाज ने वर्ल्ड बॉक्सिंग चैंपियनशिप में पहली बार ही खेलते हुए रजत पदक हासिल किया हो.

रानी हरियाणा के रोहतक जिले के रिठाल फोगट गांव से हैं. उनके पिता की कैंसर के चलते साल 2010 में मृत्यु हो गई थी. वह सीमा सुरक्षा बल में अधिकारी थे.

मंजू पूरे टूर्नामेंट में शानदार फॉर्म में थीं और क्वार्टर फाइनल में उत्तर कोरिया की शीर्ष वरीयता प्राप्त किम हयांग को भी हराया था. पांच जजों ने मेजबान रूस की खिलाड़ी के पक्ष में 29-28, 29-28, 30-27, 30-27, 28-29 से अपना निर्णय दिया.

India Vs South Africa 2nd Test Day 4: भारत ने पुणे टेस्ट में साउथ अफ्रीका को दिया फॉलोऑन, दूसरी पारी में दक्षिण अफ्रीका की खराब शुरुआत

Sanju Samson Hits Double Century: विजय हजारे ट्रॉफी में गोवा के खिलाफ दोहरा शतक जड़कर संजू सैमसन ने टीम इंडिया में पेश की विकेटकीपर की दावेदारी

Virat Kohli Breaks Sir Don Bradman Record: साउथ अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट में टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने तोड़ा सर डॉन ब्रैडमैन का ये रिकॉर्ड

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App