नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व विस्फोटक बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने अपने ट्विटर हैंडल से गमछे की एक फोटो पोस्ट की है. ऐसा नहीं कि वो केवल मजाक के लिए इस गमझे की फोटो शेयर की बल्कि इसके पीछे उन्होंने एक बहुत ही बहादुरी भरी और रोचक कहानी भी बताई है. सहवाग ने बताया है कि कैसे इस गमछे ने राजधानी एक्सप्रेस को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा लिया था. सहवाग ने अपने ट्वीट में ही बताया भी है कि यह मामला कहां का है और किस हीरो ने ये बहादुरी भरा काम किया.

सहवाग ने ट्वीट में कहा है कि सच्चे हीरो बिमल कुमार और उनके दोस्त सुबोध यादव, बबलू राम और कुछ गांव वालों ने इस लाल गमछे की सहायता से राजधानी ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त होने से बचा लिया. दरअसल इन लोगों ने ट्रैक में दरार देखने के बाद उसी ट्रैक पर आ रही राजधानी ट्रेन को पटरी के किनारे वाले घर से लाल गमछा दिखाया. जिसके बाद ड्राइवर ट्रेन को समय रहते ही रोक दिया. सहवाग लिखा है कि उनकी इस सतर्कता के लिए उन्हें यश मिले.

जानकारी के मुताबकि आपको बता दें कि बिहार के बरौनी-कटिहार सेक्शन के कुछ ही दूरी पर पटरी टूटने की घटना घटी थी. जब ट्रेन गुजर रही थी तभी ग्रामीणों ने जोर की आवाज सुनी. जिसके बाद उनको लगा कि पटरी में कुछ गड़बड़ी आ गई है. पटरी के पास पहुंचे तो देखा कि वहां तो ट्रैक ही टूटा हुआ है. जिसके बाद बिमल कुमार ने अपने साथियों और ग्रामीणों के साथ मिलकर गमछे की सहायता से ट्रेन रोकने का फैसला लिया और सफल भी रहे. लाल गमछे को देखकर ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगा दी. हालांकि इसके बाद भी ट्रेन की तीन-चार बोगिया टूटे हुए ट्रैक को पार कर चुकी थी.

VIDEO: पीएसएल में फिर से मैच फिक्सिंग का शक, अंपायर के इस फैसले पर उठ रहें सवाल

वीरेंद्र सहवाग से पहले भारतीय क्रिकेट इतिहास में इस खिलाड़ी ने जड़ा था पहला तिहरा शतक

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App