मुंबईः जहां एक तरफ इंग्लैंड के लोग भारतीय कप्तान विराट कोहली का मनोबल गिराना चाहते हैं, वहीं दूसरी तरफ महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि विराट कोहली महानतम बनने के काफी करीब हैं. धोनी ने कहा कि उन्होंने अपनी टेक्निक, टेंपरामेंट और परफॉरमेंस से दिखा दिया है कि वह एक महान खिलाड़ी हैं और लीजेंड बनने के काफी करीब हैं. धोनी ने बर्मिंघम टेस्ट में कप्तान कोहली की पारियों की भी तारीफ की और कहा कि दोनों पारियां कोहली के क्लास को दिखाती हैं. धोनी ने आगे कहा कि वह जिस तरह की बल्लेबाजी कर रहे हैं उससे मैं काफी खुश हूं.

धोनी ने आगे कहा कि मुझे इस बात की भी खुशी है कि वह टीम का सामने से नेतृत्व कर रहे हैं और खुद टीम को आगे लेकर जा रहे हैं. धोनी ने कहा कि भले ही पहला टेस्ट विराट कोहली की टीम हार गई लेकिन उनमें क्षमता है कि वे वापसी कर सकें. वहीं खुद के भविष्य के बारे में धोनी ने कहा कि वह 2019 विश्व कप से पहले कहीं नहीं जा रहे हैं, ना उससे पहले कुछ सोच रहे हैं. धोनी ने कहा कि वह 2019 का विश्व कप खेलेंगे और उसके बाद ही भविष्य को लेकर कोई निर्णय लेंगे.

धोनी ने इंग्लैंड के खिलाफ अंतिम वन डे के बाद संन्यास की अटकलों पर कहा कि उन्होंने अंपायर से गेंद इसलिए मांगी थी ताकि पता चल सके कि भारतीय गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग क्यों नहीं मिल सकी. धोनी ने कहा कि अगले साल टीम को इंग्लैंड में ही विश्व कप खेलना है इसलिए उन्होंने टीम के हित में गेंद अंपायर से मांगी थी. धोनी ने वह गेंद गेंदबाजी कोच भरत अरूण के हवाले कर दिया था.

विराट कोहली-बेन स्टोक्स के साथ-साथ क्रिकेट के लिए राहुल द्रविड़ और MS धोनी भी महत्वपूर्ण: डेविड रिचर्डसन

VIDEO: जब महेंद्र सिंह धोनी ने बोला वणक्कम, कहा- इस आईपीएल में पूरी तमिल सीख लूंगा

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App