नई दिल्ली। आईपीएल 2022 का 59वां मैच विवादों से भरा रहा। यह मैच चेन्नई सुपर किंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच खेला गया था। इस मैच में पावर कट को लेकर बड़ा विवाद हुआ था जहां सीएसके के बल्लेबाज डेवोन कॉनवे को अपना विकेट गंवाना पड़ा था। कॉनवे पावर कट के कारण रिव्यू नहीं ले सके और उन्हें इसकी कीमत अपना विकेट गंवाकर चुकानी पड़ी। लेकिन अब इस मैच से एक और विवाद सामने आया है जो महेंद्र सिंह धोनी से जुड़ा है।

धोनी को देखकर अंपायर ने बदला फैसला?

सीएसके और मुंबई के बीच हुए मैच में डीआरएस विवाद सभी ने देखा, लेकिन इस मैच में एक और बात हुई जिससे बवाल मच गया। आपको बता दें कि इस मैच में एक वक्त ऐसा भी आया जब धोनी को देखकर अंपायर ने अपना फैसला बदल दिया। दरअसल हुआ ये कि सिमरजीत सिंह मुंबई की पारी के दौरान सीएसके की पारी का छठा ओवर लेकर आए। अंपायर एक गेंद को वाइड देने ही वाले थे कि सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और अन्य खिलाड़ियों की अपील के बाद उन्होंने अपना इरादा बदल दिया। अंपायर ने वाइड देने की बजाय उंगली उठाई और मुंबई के बल्लेबाज ऋतिक शौकीन को आउट दे दिया।

रिव्यू से हुआ क्लियर

फिर इस फैसले के बाद मुंबई के इस बल्लेबाज ने रिव्यू लिया। रिव्यू लेने के बाद रीप्ले में देखा गया कि गेंद बल्ले से काफी दूर थी। इसके बाद थर्ड अंपायर ने बल्लेबाज को नॉट आउट दे दिया। लेकिन इस घटना को देखने के बाद एक बार फिर आईपीएल में अंपायरिंग को लेकर सवाल खड़े हो रहे हैं। सोशल मीडिया पर लोग लगातार यही सवाल उठा रहे हैं कि धोनी को देखकर अंपायर ने अपना फैसला क्यों बदला।

डीआरएस पर भी बवाल

इससे पहले इसी मैच में डेवोन कॉनवे के आउट होने पर बवाल मच गया था। मैच की दूसरी गेंद पर मुंबई के तेज गेंदबाज डेनियल सैम्स डेवोन कॉनवे एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। जैसे ही गेंद कॉनवे के पैड पर लगी, मुंबई के खिलाड़ियों ने जोरदार अपील की और अंपायर ने भी उन्हें तुरंत आउट दे दिया।

इस फैसले के बाद कॉनवे रिव्यू लेना चाहते थे, लेकिन इस दौरान वह उपलब्ध नहीं हो पाए। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि तकनीकी समस्या के कारण समीक्षा उपलब्ध नहीं थी।

READ ALSO;-

कांग्रेस चिंतन शिविर: 5 साल काम करने पर मिलेगा टिकट, एकमत से पास हुआ प्रस्ताव

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर