नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के एक उत्कृष्ट बाएं हाथ के तेज गेंदबाज आरपी सिंह (रूद्र प्रताप सिंह) ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से सन्यास ले लिया है. भारतीय क्रिकेटर ने इसकी घोषणा ट्वीट के जरिए की है. आरपी सिंह ने ट्विटर पर एक इमोशनल नोट शेयर किया है. इस नोट में आरपी सिंह ने सन्यास लेने का कारण भी बताया है. साथ ही उन्होंने लिखा है कि उन्होंने 13 साल पहले वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में पदार्पण किया था. उन्होंने जिंबाबे के खिलाफ पहला मैच खेला था.

आरपी सिंह फिलहाल टीम से बाहर चल रहे थे. टीम में जगह नहीं मिल पाने के कारण उनका क्रिकेट करियर खत्म ही माना जाता था. उनकी बढ़ती उम्र भी एक कारण माना जा रहा है. उन्होंने 32 साल की उम्र में रिटायरमेंट की घोषणा की है. काफी समय से आरपी सिंह क्रिकेट खेलने के बजाय कमेंट्री करते नजर आ रहे थे. आरपी सिंह ने 13 साल पहले चार सितंबर को ही जिम्बाब्वे के खिलाफ अपने करियर का आगाज किया था. इसके बाद वे तीनों फॉर्मेटों में खेलने लगे थे. उन्होंने साल 2011 में कार्डिफ में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था. इसके बाद से ही वे टीम इंडिया से का हिस्सा नहीं बन पा रहे थे. 

आरपी सिंह ने अपने करियर में 14 टेस्ट, 58 वनडे और 10 टी20 मैच खेले हैं. वे आईपीएल के छह सीजन का हिस्सा रहे और पांच टीमों से जुड़े रहे. अगर देखा जाए तो उनका करियर सिर्फ छह साल रहा. सात साल से वे टीम से बाहर रहे. आरपी सिंह ने 14 टेस्ट में 40, वनडे में 69 और टी20 में 15 विकेट अपने नाम किए हैं. 2011 के बाद उनके क्रिकेट करियर पर ब्रेक ही लग गया था.

बॉलीवुड अभिनेत्री निम्रत कौर से रिश्ते की खबर को भारतीय कोच रवि शास्त्री ने बताया गाय का गोबर

पूर्व ICC प्रमुख एहसान मानी बने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के नए अध्यक्ष

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App