नई दिल्ली.  virat kohli on performance questioning विराट कोहली की कप्तानी में भारत ने टेस्ट सीरीज में न्यूजीलैंड को 1-0 से मात दी हैं. इस मैच के जीतने से विराट कोहली ने नया रिकॉर्ड कायम किया है. विराट कोहली ने तीनों फॉर्मेट में 50-50 मैच जीतने वाले पहले भारतीय खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल किया है. भले ही टीम इस मैच को जीत गई है, लेकिन कई ऐसे परेशानियां हैं जो अभी भी टीम इंडिया के चिंता का विषय बनी हुई हैं. इस में से एक है विराट कोहली का फॉम। विराट कोहली ने आखिरी शतक 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ पिंक बॉल टेस्ट में लगाया था, जिसके बाद वो तिहरे अंक को नहीं छू पाए. लेकिन विराट कोहली इस बात से चिंतित होते नहीं दिखाई देते है. वे अपने आउट होने के तरीकों को लेकर भी किसी तरह की घबराहट में नहीं हैं.

न्यूजीलैंड के खिलाफ मुंबई टेस्ट के बाद उन्होनें कहा कि ‘हम प्रोसेस पर भरोसा करते हैं लेकिन यदि आउट होने का तरीका एक सा ही रहता है और बार-बार ऐसा हो रहा है तब उस पर काम करने की जरूरत होती है. इसमें 60 से 70 गेंद खेलने के बाद पता चलता है. भारतीय कप्तान ने इस बारे में आगे कहा,

विराट ने कही ये बात

कभी-कभी ऐसी चीजें अपने आप होती हैं और कई बार नहीं होती लेकिन कड़ी मेहनत और प्रोसेस पर भरोसा हमेशा बना रहना चाहिए. इसमें किसी तरह की ढिलाई नहीं होनी चाहिए क्योंकि यह बात खुद के अनुभव से समझ आती है. जब गलतियां बार-बार दोहराई जाती है तब उन्हें फौरन ठीक करने की जरूरत होती है. आपको खुद को सुधारते रहना होता है और बार-बार होने वाली गलतियों को दूर करना जरूरी है. इन पर काम करना होता है. आपको समझना और भरोसा करना होता है कि इस तरह के उतार पर काबू किया जा सकता है.

यह भी पढ़ें:

नोरा फतेही की कमरिया फैंस को बना रही दीवाना, ऐसा डांस मूव्स देखा नहीं होगा

Katrina and Vicky की शादी में सुरक्षा मुहैया कराएगी Salman Khan के Private Bodyguard Shera की टीम