आगरा :  निराशा, चेहरे पर आक्रोश, अच्छी बढ़त को बरकरार न रख पाना और हताशा में ग़लतियों पर ग़लतियां करना – यहां हम बात कर रहे रियो ओलिम्पिक की मेडलिस्ट साक्षी मलिक की, जिन्हें तीसरी बार एक जूनियर से सीनियर में आई हरियाणा की ही सोनम ने शिकस्त दे दी। सोनम की साक्षी पर तकरीबन साल भर में यह तीसरी जीत है।

इसे भारतीय कुश्ती के लिए अच्छा संकेत कहा जाएगा क्योंकि जहां कुछ दिन पहले पुरुषों की राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में नरसिंह यादव, अमित धनकड़, जितेंद्र और सरवन का भी कुछ ऐसा ही हश्र हुआ था और वहां कई युवा चैम्पियन सामने आए थे। वहीं इस बार महिलाओं की चैम्पियनशिप में भी कुछ ऐसा ही देखने को मिला। यह स्थिति तब है जब साक्षी 4-0 की बढ़त बना चुकी थी लेकिन इसके बाद सोनम का पॉवर गेम और मौके पर सही तकनीक के इस्तेमाल ने सारे समीकरण बदल दिए। पहले एक-एक अंक बटोरकर उन्होंने बढ़त कम की और फिर बगलडूव करके दो अंक बटोरकर दो अंक और बटोर लिए। सोनम इससे भी भला कहां सब्र करने वाली थी। उन्होंने अंटी खींचकर गिराने के साथ दो अंक और बटोरे। खेल थोड़ा रफ था जिससे दोनों को एक-एक कॉशन दिया गया। आखिरकार 7-4 के स्कोर के साथ सोनम एक बड़ा उलटफेर करने में सफल रहीं। इससे पहले 2020 की एशियाई चैम्पियनशिप के दो बार आयोजित ट्रायल में सोनम ने दोनों बार साक्षी को हराकर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा दिया था।

पहले दिन पांच में से चार गोल्ड हरियाणा के पहलवानों ने जीते और 72 किलो में पिंकी के रूप में एकमात्र गोल्ड रेलवे के हाथ आया। पिंकी ने हरियाणा की नैना को 7-2 से हराकर हरियाणा के क्लीन स्वीप के सपने को तोड़ दिया। इसके अलावा 57 किलो के फाइनल में हरियाणा की अंशू ने रेलवे के अनुभवी पहलवान ललिता को आसानी के साथ शिकस्त दी। अंशू ने पिछले दिनों वैयक्तिक वर्ल्ड कप में देश को मिलने वाला इकलौता पदक दिलाया था। 55 किलो में हरियाणा की उभरती अंजू को फाइनल में दिल्ली की बंटी के चोटिल होने का फायदा हुआ और वह फाइनल में वॉकओवर के साथ गोल्ड मेडल जीतने में क़ामयाब हो गईं। 50 किलो का गोल्ड हरियाणा की मीनाक्षी ने हरियाणा की ही हन्नी कुमारी को पिछड़ने के बाद हराकर अपने नाम किया। लगता है कि इस वजन पर हरियाणा का कॉपराइट है क्योंकि कभी विनेश और रितु फोगट तो कभी सीमा, निर्मला और अब इस वजन के फाइनल में पहुंचने वाली दोनों महिला पहलवानों का हरियाणा से होना यही ज़ाहिर करता है।   

पहले दिन के पदक विजेता इस प्रकार हैं –

50 किलो – 1. मीनाक्षी (हरियाणा), 2. हन्नी कुमारी (हरियाणा), 3. स्वाति शिंदे (महाराष्ट्र), 3. कीर्ति (दिल्ली)।

55 किलो – 1. अंजू (हरियाणा), 2. बंटी (दिल्ली), 3. इंदू तोमर (यूपी), 3. शौकीन (दिल्ली)।

57 किलो – 1. अंशू (हरियाणा), 2. ललिता (रेलवे), 3. रमन यादव (एमपी), 3. मानसी (हरियाणा)।

62 किलो – 1. सोनम (हरियाणा) 2. साक्षी मलिक (रेलवे), 3. पुष्पा (एमपी), 3. मनीषा (हरियाणा)।

72 किलो – 1. पिंकी (रेलवे), 2. नैना (हरियाणा), 3. प्रियंका (यूपी), 3. कविता (रेलवे)।

Sakshi Malik Hot Photo Videos : साक्षी मालिक की बीकनी में सेक्सी फोटोज इंटरनेट पर छाई

Bajrang Punia On Commando 3: देशभक्ति दिखाने के चक्कर में कमांडो 3 में भारतीय पहलवान बदनाम, खफा हुए गोल्ड मेडलिस्ट बजरंग पूनिया