नई दिल्लीः भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने कहा है कि रोहित शर्मा को टेस्ट मैचों में भी ओपनिंग का मौका मिलना चाहिए. सहवाग ने कहा कि उनकी और गौतम गंभीर की जोड़ी इसलिए सफल थी क्योंकि यह जोड़ी टेस्ट, वन डे और टी-20 तीनों में एक साथ ओपनिंग करती थी. इसलिए दोनों सलामी बल्लेबाजों में एक आपसी समझ बन गई थी. सहवाग ने कहा कि यह कहना गलत है कि टेस्ट मैचों में सलामी बल्लेबाजी के लिए एक अलग तकनीक की आवश्यकता होती है.

सहवाग ने कहा कि टेस्ट मैचों में सलामी बल्लेबाजी के लिए अलग तकनीक नहीं बल्कि एक विशेष माइंडसेट की जरूरत होती है. अगर आप उस माइंडसेट के साथ मैदान पर उतरते हैं तो आप निश्चित रूप से सफल होंगे. सहवाग ने कहा कि रोहित शर्मा की तरह वह भी एक मध्यक्रम के बल्लेबाज थे. लेकिन उन्हें जब ओपनिंग करने का मौका मिला तो उन्होंने इसे दोनों हाथ से लिया. सहवाग ने कहा कि रोहित वनडे मैचों में अच्छी बल्लेबाजी कर रहे हैं. बस जरूरत है उसी को टेस्ट में भी बनाए रखने की. 

सहवाग ने कहा कि रोहित को पृथ्वी शॉ से पहले टेस्ट मैचों में ओपनिंग का मौका मिलना चाहिए. सहवाग ने कहा कि पृथ्वी बिना शक एक अच्छे बल्लेबाज हैं, लेकिन उन्हें अभी थोड़ा और इंतजार करना चाहिए. वह अभी युवा हैं और इंतजार कर सकते हैं. सहवाग ने कहा कि अगर रोहित शर्मा टेस्ट मैचों में सफल नहीं होते तो फिर पृथ्वी को मौका मिलना चाहिए.

Happy Teachers Day 2018: सचिन तेंदुलकर, सुरेश रैना सहित इन क्रिकेटर्स ने अपने गुरू को किया याद

विराट कोहली ने फिंगरगेट प्रकरण को किया याद, माना जिंदगी की सबसे बड़ी गलती

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App