मुंबईः भारतीय महिला क्रिकेटर मिताली राज और टीम इंडिया के हेड कोच रमेश पवार के बीच बढ़ते विवाद को देखते हुए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बड़ा फैसला लिया है. BCCI ने वेस्टइंडीज में हुए टी-20 वर्ल्ड कप के तुरंत बाद महिला क्रिकेट टीम के प्रमुख कोच रमेश पवार को उनके पद से हटा दिया है. बता दें कि रमेश पवार का कार्यकाल महिला टी-20 विश्व कप तक के लिए ही था, जिसे आगे बढ़ाना था लेकिन बीसीसीआई ने उसे आगे न बढ़ाकर उनकी पद से छुट्टी कर दी है.

इसके साथ ही बीसीसीआई ने भारतीय महिला क्रिकेट टीम का कोच पद खाली हो जाने के बाद इच्छुक उम्मीदवारों के आवेदन मांगे हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक बोर्ड टॉम मूडी, डेव वाटमोर और वेंकटेश प्रसाद के नाम पर विचार कर रहा है. भारतीय महिला टीम के मौजूदा कोच रमेश पवार का कार्यकाल 30 नवंबर को समाप्त हो गया. 

बता दें कि वेस्टइंडीज में हुए टी-20 वर्ल्ड कप का रिपोर्ट कार्ड बीसीसीआई को सौंपते हुए रमेश पोवार ने मिताली राज पर मनमानी करने का गंभीर आरोप लगाया था. रमेश पवार ने भारत की स्टार प्लेयर मिताली राज पर आरोप लगाते हुए कहा था कि वह देश के लिए नहीं बल्कि अपने व्यक्तिगत रिकॉर्ड के लिए खेलती हैं.

रमेश पवार के आरोपों का जवाब देते हुए महिला क्रिकेटर मिताली राज ने कहा था कि वह 20 सालों से देश के लिए खेल रही हैं लेकिन अब उन पर स्वार्थी होने का आरोप लग रहा है. उनकी देशभक्ति पर सवाल पूछे जा रहे हैं. मिताली राज ने इसे अपनी जिंदगी का ब्लैक-डे बताया था और भगवान से इसे सहने की शक्ति देने की प्रार्थना की थी.

Mithali Raj Ramesh Powar Controversy: कोच रमेश पोवार ने बताया स्वार्थी तो मिताली राज बोलीं- देश के लिए 20 साल खेलना बेकार हो गया

India Women vs England Women World Cup T20 Semi-final: कप्तान हरमनप्रीत कौर की जिद बनी भारतीय महिला टीम की हार की वजह!

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App