नई दिल्ली. MS Dhoni Gloves Army Insignia Controversy Live Updates: भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) ने इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल  (ICC) की उस बात को मान लिया है जिसमें आईसीसी ने कहा था कि महेंद्र सिंह धोनी को क्रिकेट वर्ल्ड कप मैच के दौरान बलिदान बैज लगे हुए ग्लव्स नहीं पहनने चाहिए. आईसीसी ने कहा था कि धोनी के इस तरह के ग्लव्स पहने पर बीसीसीआई रोक लगाए.

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच 5 जून को साउथेम्पटन में मैच खेला गया था. महेंद्र सिंह धोनी जब इस मुकाबले में टीम इंडिया की तरफ से विकेटकीपिंग करने उतरे तो उनके गलव्स पर भारतीय सेना की पैरा स्पेशल फोर्स के सम्मान स्वरूप बलिदान बैज लगा हुआ दिखाई पड़ा. ये बैज आईसीसी को नागवार गुजरा और उसने आपित्त जताई. आईसीसी ने बीसीसीआई से कहा कि धोनी के गलव्स पर लगे इस बैज को जल्द हटाया जाए. क्योंकि ये इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल के नियमों के खिलाफ है. इसके बाद बीसीसीआई और आईसीसी के बीच तकरार बढ़ गई है. बीसीसीआई सेक्रेटरी राहुल जौहरी एमएस धोनी के समर्थन में आईसीसी के सामने बीसीसीआई का पक्ष रखने लंदन जाएंगे. 

10 बजकर 10 मिनट- बीसीसीआई ने आईसीसी की बात मान ली है. अब टीम इंडिया के विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी मैच के दौरान सेना बलिदान बैज  लगे ग्लव्स नहीं पहनेंगे. 

8 बजकर 12 मिनट- साल 2019 में ये दूसरी बार हुआ है जब किसी भारतीय खिलाड़ी के सेना  से संबंधित बैज लगाने पर आपत्ति उठाई गई है. इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ रांची में खेले गए वनडे मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने पुलवामा में शहीद हुए सीआरपीएफ के जवानों को श्रद्धांजलि देने के लिए सेना की कैप पहनी थी. जिस पर पाकिस्तान ने आपत्ति जताई थी.

7 बजकर 19 मिनट- भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO) राहुल जौहरी महेंद्र सिंह धोनी के  साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय सेना की पैरा स्पेशल फोर्स के सम्मान स्वरूप बलिदान बैज लगे गलव्स पहने पर आईसीसी से सामने सफाई देंगे.

7 बजकर 15 मिनट- साउथ अफ्रीका के खिलाफ 5 जून को साउथेम्पटन में खेले गए मैच के दौरान टीम इंडिया के विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी ने  भारतीय सेना की पैरा स्पेशल फोर्स के सम्मान स्वरूप बलिदान बैज  लगे हुए  गलव्स पहने थे. जिसपर जिस पर आईसीसी ने आपित्त जताई और इसे हटने के लिए बीसीसीआई से कहा. इस मामल पर बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी लंदन जाएंगे.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App