नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम और साउथ अफ्रीका के बीच खेले गए क्रिकेट वर्ल्ड कप के मुकाबले में टीम इंडिया की जीत से ज्यादा भारतीय टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर महेंद्र सिंह धोनी के गल्वस चर्चा में रहे. 5 जून को साउथैंपटन के मैदान पर खेले गए इस मैच में धोनी ने भारतीय सेना की पैरा स्पेशल फोर्स के सम्मान स्वरूप बलिदान बैज लगे हुए गल्वस पहने थे. इस बात को लेकर कुछ लोग धोनी की तारीफ कर रहे थे तो वहीं आईसीसी ने इस बात की आपत्ति जताई है. आईसीसी ने बीसीसीआई से साफ कहा कि धोनी के गल्वस पर लगे इस बैज को जल्द हटाया जाए क्योंकि वह आईसीसी के नियमों के खिलाफ है.

हालांकि बीसीसीआई धोनी के साथ हैं और उसने इस मामले में आईसीसी को एक लैटर भी लिखा है. बीसीसीआई की प्रशासनिक समिति के अध्यक्ष विनोद राय ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि इस संबंध में बीसीआई धोनी के साथ है और हम अपनी टीम के हर खिलाड़ी के साथ खड़े हैं. इतना ही नहीं विनोद राय ने आगे कहा कि धोनी के दस्ताने पर जो चिह्न है, वह किसी धर्म का प्रतीक नहीं है. हम धोनी के गल्वस को मैदान पर पहनने के लिए आईसीसी से इजाजत की मांग भी करेंगे. अब इस मामलें में बीसीसीआई की मुंबई में एक बैठक होने वाली है और इस बैठक में सीसीआई के सीईओ राहुल जौहरी सहित कई अधिकारी शामिल होंगे. बैठक बाद ही इसका नतीजा सामने आएगा.

खबर यह भी है कि धोनी के गल्वस पर लगे बैज की शिकायत आईसीसी से पाकिस्तान ने की है और पाकिस्तान के विदेश मंत्री फवाद हुसैन इस मामले पर कहा कि धोनी क्रिकेट खेलने गए हैं महाभारत का युद्ध करने नहीं. इतना ही नहीं उन्होंने के कहा कि भारतीय मीडिया का एक वर्ग इस तरह से खुश हो रहा है जैसे वह धोनी को युद्ध के लिए सीरीया, अफगानिस्तान और रवांडा भेज रहे हों. वहीं धोनी के समर्थन में कई खिलाड़ी भी आए और कई बॉलीवुड स्टार्स भी आएं जो धोनी की तारीफ करते हुए कह रहे हैं कि उन्होंने कोई गलत नहीं किया है. 

इसके साथ ही इस मामले पर भारतीय सेना का भी बयान आया है, सेना ने कहा है कि धोनी के गल्वस पर लगा हुआ यह बैज सेना के बलिदान बैज का नहीं है. क्योंकि सेना के बलिदान बैज का कलर मरहूम होता है और यह वह नहीं है. इसके आगे हम कुछ टिप्पणी नहीं करेंगे. प्रशासकों की समिति (सीओए) के प्रमुख विनोद राय ने कहा आईसीसी हम खेल के मानदंडों की पुष्टि करने में विश्वास करते हैं. यदि आईसीसी के मानदंडों का उल्लंघन होता है तो हम आईसीसी के नियमों का पालन करेंगे.  

वहीं धोनी के समर्थन में झारखंड सरकार भी है और उसने कहा कि बीसीसीआई को धोनी का साथ देना चाहिए. बता दें कि धोनी इस बैज को अपने फोन के कवर पर भी लगाते हैं और कई जगहों पर उनके कैप व ड्रेस पर भी यह बैज दिखा है. इतना ही नहीं उनके किट के बैग का रंग भी सेना की ड्रेस की तरह होता है. क्योंकि वह भारतीय सेना की पैरा स्‍पेशल फोर्स में लेफ्टिनेंट कर्नल हैं. 

India Vs South Africa ICC World Cup 2019 Highlights: वर्ल्ड कप के पहले मैच में रोहित शर्मा के धुंआधार शतक की बदौलत भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 6 विकेट से हराया

ICC to remove MS Dhoni Gloves Army Insignia : तो क्या ‘बलिदान बैज’ वाले ग्लव्स नहीं पहन सकेंगे महेंद्र सिंह धोनी, आईसीसी ने बीसीसीआई से ग्लव्स से बैज हटाने को कहा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App